मुजफ्फरनगर, जेएनएन। जानसठ में पुलिस के डर से भागे युवक का पैर मुड़कर टूटने से समुदाय विशेष के लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस ने किसी तरह से भागकर जान बचाई।

सुबह लॉकडाउन से छूट के दौरान कस्बा चौकी इंचार्ज चंद्रसेन सैनी बाइक पर हमराह के साथ गश्त कर रहे थे। जैसे ही वह मोहल्ला काजियान में पहुंचे तो वहां खड़े चार-पांच युवक पुलिस को देखकर एक दुकान में घुस गए। कस्बा इंचार्ज ने उस दुकान में जाकर देखा तो वहां पर कई युवक थे। उनमें से एक युवक आमिर पुत्र अमीरूद्दीन निवासी काजियान दुकान से निकलकर भागने लगा तो हमराह सिपाही ने पीछे से उसके हाथ पर एक डंडा मार दिया। इससे घबराकर युवक गिर पड़ा और उसके पैर की हड्डी टूट गई। युवक को गिरा देख समुदाय विशेष के लोग एकत्र हो गए तथा हंगामा करते हुए चौकी इंचार्ज को घेरने लगे। मौका पाकर चौकी इंचार्ज अपनी बाइक उठाकर वहां से निकल लिए। कुछ युवकों ने उनका कुछ दूर तक पीछा किया। इस घटना से आक्रोशित लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी और सैकड़ों लोग इकट्ठा हो गए। हंगामे की सूचना पर इंस्पेक्टर योगेश शर्मा मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाया। लोगों का आरोप था कि पुलिस बिना वजह पीट रही है। पुलिस ने लोगों को समझाकर किसी तरह से शांत किया तथा युवक को एक निजी चिकित्सक के यहां पहुंचाया। सूचना मिलने पर सीओ शकील अहमद ने वहां पहुंचकर युवक के हाल जाना। सीओ शकील अहमद ने बताया कि पुलिस के डर से गिरने की वजह से युवक के पैर की हड्डी टूट गई है। उसके पैर पर प्लास्टर करा दिया है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस