जागरण संवाददाता, मुजफ्फरनगर। दूसरे दिन अर्थात शनिवार को भी किसी प्रत्याशी ने विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल नहीं किया। अलबत्ता दूसरे दिन 26 पर्चों की बिक्री हुई, जिसमें भाजपा के पुरकाजी विधायक प्रमोद ऊटवाल और पूर्व विधायक व रालोद प्रत्याशी अनिल कुमार ने नामांकन पत्र खरीदा है। दो दिन में 59 नामांकन पत्र खरीदे गए हैं। जिनमें से अधिकांश निर्दलीय हैं।

शनिवार को भी नामांकन पत्रों की बिक्री हुई है। मीरापुर विधानसभा सीट के लिए छह नामांकन पत्रों की बिक्री हुई है। कांग्रेस पार्टी से शकील अहमद, जनसत्ता पार्टी से सुनिता सिंह, बहुजन मुक्ति पार्टी से वकार अजहर, आप पार्टी से जोगेंद्र सिंह और निर्दलीय प्रत्याशी अनिल कुमार, नरेश विश्वकर्मा ने नामांकन पत्र खरीदे हैं। खतौली विधानसभा सीट के लिए चार नामांकन पत्रों की बिक्री हुई है। पिछड़ा समाज पार्टी से राजू भाटिया और निर्दलीय प्रत्याशी संदीप सिंह, जयविद्र व सतवीर ने नामांकन पत्र खरीदा है। बुढाना विधानसभा सीट के लिए दो नामांकन पत्रों की बिक्री हुई है। कांग्रेस पार्टी से अनिल दत्त शर्मा और जगवीर सिंह ने नामांकन पत्र खरीदा है। सदर सीट के लिए पांच नामांकन पत्रों की बिक्री हुई है। राष्ट्रीय लोकदल पार्टी से अरफात राणा, जनसत्ता पार्टी से जहीर, निर्दलीय प्रत्याशी डा. समय सिंह, ललित कुमार और सीमा रानी ने नामांकन पत्र खरीदा है। पुरकाजी विधानसभा सीट के लिए पांच नामांकन पत्रों की बिक्री हुई है। भाजपा पार्टी से विधायक प्रमोद ऊटवाल, राष्ट्रीय लोकदल पार्टी से अनिल कुमार, कांग्रेस पार्टी से प्रदीप कुमार और निर्दलीय प्रत्याशी वीरमती, मुकेश ने नामांकन पत्र खरीदा है। चरथावल विधानसभा सीट के लिए 4 नामांकन पत्रों की बिक्री हुई है। राष्ट्रीय लोकदल पार्टी से अरफात राणा, एआईएमआईएम पार्टी से ताहिर हुसैन अंसारी, निर्दलीय प्रत्याशी चंद्रवीर और राजसिंह ने नामांकन पत्र खरीदा है।

---

एसएसपी ने फोर्स को किया ब्रीफ

विधान सभा चुनाव में पुलिस पूरी मुस्तैदी बरत रही है। शनिवार को एसएसपी अभिषेक यादव ने कचहरी में नामांकन स्थल के निरीक्षण उपरांत पुलिस बल को ब्रीफ किया। इस दौरान भारत निर्वाचन आयोग की ओर से जारी की गई गाइडलाइन से अवगत कराते हुए उसका शत-प्रतिशत पालन कराने का निर्देश दिया। नामांकन के लिए आने वाले सभी प्रत्याशियों को मास्क व चेकिग के बाद ही अंदर जाने देने का निर्देश दिया। कहा कि भीड एकत्र न होने पाए और मीडियाकर्मी व सरकारी कर्मचारियों का आइकार्ड देखकर प्रवेश दिया जाए। प्रत्याशी के समर्थकों को निश्चित दूरी पर रोका जाए।

Edited By: Jagran