जेएनएन, मुजफ्फरनगर। मतांतरण और विदेशी फंडिग के आरोप में गिरफ्तार हुए मौलाना कलीम सिद्दीकी ने हाल ही में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की थी। इस कार्यक्रम का मौलाना ने अपने फेसबुक पेज पर भी जिक्र किया है। इसमें उन्होंने दो लाइन में लिखा है कि उनका जो फर्ज है, वो अहल-ए-सियासत जाने, मेरा पैगाम मोहब्बत है, जहां तक पहुंचे।

मौलाना कलीम सितंबर माह में कई बार गांव आए और लोगों से मिलकर चले गए। एटीएस उनकी लोकेशन और कार्य प्रणाली को निरंतर वाच कर रही थी। गांव में किसी को भी आभास नहीं था कि मौलाना कानून विरोधी काम में लिप्त हैं। बुधवार को गांव के साथ मदरसों में सन्नाटा रहा। बता दें कि अगस्त में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के चचेरे भाई अनंत भागवत ने मदरसे में पहुंचकर मौलाना को कार्यक्रम का निमंत्रण दिया था। सात सितंबर की रात्रि मुंबई के एक होटल में हुए कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। जहां आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के साथ गर्मजोशी के साथ उनकी मुलाकात इंटरनेट मीडिया भी सुर्खियां बनी थी।

-----

खामोश हैं स्वजन और परिचित

पूरे मामले का राजफाश होने के बाद मौलाना के रिश्तेदार, परिचित और स्वजन खामोश हैं। गांव में रहने वाला बड़ा बेटा अहमद भी चला गया। कुछ में ताले लटके हैं। गांव में पुलिस बल तैनात किया गया है।

बीच में छोड़ दी थी एमबीबीएस की पढ़ाई

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। मतांतरण और विदेशी फंडिग के मामले में गिरफ्तार किए गए मौलाना कलीम सिद्दीकी का नाम इस्लामिक हस्तियों में शुमार है। एमबीबीएस की पढ़ाई को छोड़कर इस्लामिक विद्वान बनने की राह पकड़ ली।

गांव फुलत निवासी मोहम्मद अमीन सिद्दीकी ने दो महिलाओं से निकाह किया। पहली पत्नी से मोहम्मद वकील, मोहम्मद जमील और जलीम पैदा हुए। बताते हैं कि पहली पत्नी की मृत्यु के बाद दूसरी महिला जुबैदा से निकाह किया। इनसे मोहम्मद अलीम, मोहम्मद सलीम, मोहम्मद कलीम व मोहम्मद हलीम का जन्म हुआ। अपने पिता की दूसरी पत्नी की मौलाना कलीम सिद्दीकी तीसरी संतान है। उनकी बहन भी बताई गई है। गांव में प्रारंभिक शिक्षा हासिल करने के बाद खतौली के पिकेट इंटर कालेज से कक्षा 12वीं उत्तीर्ण किया। मेरठ कालेज से बीएससी की। इसके बाद एमबीबीएस में दाखिला लिया लेकिन बीच में ही छोड़ दिया।

------ चार संतानों के पिता हैं मौलाना

मौलाना कलीम सिद्दीकी का निकाह मुनीरा से हुआ है। उनके चार संतान हैं। दो पुत्र अहमद सिद्दीकी और असजद हैं, जबकि दो पुत्री असमा और असना हैं। केवल असजद अविवाहित है। 15 साल पहले मौलाना ने अपना निजी आवास दिल्ली के शाहीन बाग में बना लिया। गांव में उनके कुटुंब के स्वजन और बड़ा बेटा अहमद रहता है। सूत्रों की मानें तो मौलाना कलीम और परिवार के पास करीब 500 बीघा से अधिक पुश्तैनी भूमि है।

Edited By: Jagran