जेएनएन, मुजफ्फरनगर। श्रावण मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में जलाभिषेक करने को श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। श्रद्धालुओं ने कतारों में लगकर भगवान आशुतोष का जलाभिषेक किया। शिवालयों में घंटे घड़ियाल बजते रहे। हर-हर महादेव, बम-बम भोले के जयकारे गुंजायमान रहे, जिससे वातावरण भक्तिमय रहा। कहीं भोले के भजन तो कहीं शिव चालीसा व शिव पुराण के पाठ हुए।

सावन के दूसरे सोमवार को भक्तों ने सुबह उठकर स्नान आदि के बाद व्रत रखा। शिवालयों में जाकर भगवान आशुतोष का गंगाजल, दूध, दही, घी, शहद, फूल, बेल-पत्र, भांग-धतूरा आदि से अभिषेक किया। अभिषेक करने को शिवालयों में भक्तों की भीड़ उमड़ी। कोरोना गाइड लाइन को ध्यान में रखते हुए भक्तों ने कतारों में लगकर भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना कर जलाभिषेक किया। परिवार की सुख समृद्धि के लिए मनौतियां मांगी। शिवालयों में हर-हर महादेव, बम-बम भोले के जयकारे गुंजायमान रहे। शहर के शिव चौक स्थित शिवालय, अनंतेश्वर महादेव मंदिर गांधी कालोनी, पंचमुखी महादेव मंदिर, नवीन मंडी स्थल स्थित शिव मंदिर, श्री श्यामा श्याम मंदिर गांधीनगर, बालाजी धाम, गणपति धाम मंदिर, दाल मंडी स्थित शिव मंदिर, शांतिनगर स्थित शिव मंदिर समेत शहर के विभिन्न मोहल्लों में स्थापित शिवालयों में भक्तों ने कतारों में लगकर जलाभिषेक किया। दोपहर बाद शिवालयों में भगवान भोले का सत्संग, शिव चालीसा व शिव महापुराण के पाठ हुए। श्यामा मंदिर गांधीनगर में शिवमहापुराण कथा का आयोजन हुआ। चरथावल : श्रावण मास में दूसरे सोमवार को बड़ी संख्या में शिवभक्तों ने शिवालय पहुंचकर भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक कर आशीर्वाद लिया। मंदिरों में चारों ओर बम-बम भोले व बाबा भोलेनाथ के जयकारे सुर्नाइ दे रहे थे। गंगाजल के साथ शिवभक्तों ने भगवान आशुतोष का बेल-पत्र, धूप, दीप, अक्षत, रोली, चंदन से अभिषेक व पूजन कर परिवार की सुख समृद्धि की कामना की।

Edited By: Jagran