खतौली (मुजफ्फरनगर): भारतीय किसान यूनियन की बैठक में 23 सितंबर से शुरू होने वाली किसान क्रांति यात्रा में लाखों की भीड़ जुटाने का दावा किया गया। किसानों से भोजन साथ लेकर चलने की अपील की गई। प्रदेश के हर जिले से एक हजार किसानों को यात्रा में शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है। मुजफ्फरनगर जिले से किसानों की यह संख्या 30 हजार रहेगी।

नगर पालिका के सभागार में आयोजित बैठक में भाकियू के जिलाध्यक्ष राजू अहलावत ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार सिर्फ घोषणाएं करती हैं कि किसानों के लिए 15 हजार करोड़ दिए, गन्ना भुगतान के लिए 10 हजार करोड़ दिए, लेकिन किसानों को न तो गन्ना भुगतान मिल रहा और नहीं कोई आर्थिक मदद। सरकार किसानों के साथ छल कर रही है। कर्जमाफी के नाम पर किसी किसान का 72 रुपये, किसी के 150 रुपये माफ किए गए। 10 वर्ष पुराने ट्रैक्टरों के चलने पर रोक लगा दी गई। किसानों के साथ मजदूर व व्यापारी भी इस सरकार में दुखी है। किसानों, मजदूरों की मांगों को लेकर 23 सितंबर को हरिद्वार से किसान क्रांति यात्रा निकाली जाएगी। दो अक्टूबर को दिल्ली में यात्रा संपन्न होगी। प्रदेश के हर जिले से एक हजार किसानों को ले जाने का लक्ष्य है, लेकिन मुजफ्फरनगर से करीब 30 हजार किसान जाएंगे। कुछ अन्य बड़े जिलों से 10 या 15 हजार किसान जाएंगे। उन्होंने किसानों से अपने साथ भोजन लेकर चलने की अपील की। बैठक की अध्यक्षता इन्द्रपाल ने तथा संचालन नगराध्यक्ष मनोज सहरावत सभासद ने किया। बैठक में तहसील अध्यक्ष अंकुर मुखिया, ब्लाक अध्यक्ष कपिल सोम, पूर्व जिला पंचायत सदस्य इरशाद गुर्जर, ¨पटू वालिया, राजवीर, जोगेन्द्र, धर्मेन्द्र सहरावत, भीम¨सह, सुभाष चौधरी, राजा, गौरव अहलावत, खड़क ¨सह आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran