मुजफ्फरनगर (जेएनएन)। चरथावल में क्षेत्रीय वैदिक सम्मेलन में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि भाजपा सरकार सबका साथ,सबका विकास के साथ ही वेदों के माध्यम से हिंदू व भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए संकल्पित है। आज वेदों का प्रचार-प्रसार विलुप्त होता जा रहा है। विपरीत स्थिति में भी गुरुकुल में ही वेदपाठी चारों वेदों का ज्ञान प्राप्त कर रहे हैं।
तीन दिवसीय क्षेत्रीय वैदिक सम्मेलन
ग्राम भवानीपुरा में स्थित आचार्य अभयदेव वेद गुरुकुल तपोवन आश्रम में आयोजित तीन दिवसीय क्षेत्रीय वैदिक सम्मेलन के दूसरे दिन दोपहर को पहुंचे उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि वेदों के ज्ञान का कुछ अंश दक्षिण भारत में ही दिखाई देता था लेकिन यहां गुरुकुल में अथर्ववेद,सामवेद,ऋग्वेद,यजुर्वेद चारों वेदों का अध्ययन करते बच्चों को देखकर बड़ी प्रसन्नता हुई। यहां विपरीत परिस्थितियों में भी वैदिक शिक्षा को आगे बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। वेद व योग को घर-घर पहुंचाने के लिए हम सभी को संकल्पित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र में मोदी व प्रदेश में योगी सरकार सबका साथ,सबका विकास के साथ ही भारतीय व हिंदू संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए कार्य कर रही है। इन वैदिक पाठशालाओं की हर जरूरत व समस्याओं के निराकरण के लिए सरकार सदैव तत्पर है।
निर्भीक होकर दें वेदों का ज्ञान
उन्होंने कहा कि गुरुकुल के आचार्य निर्भीक होकर बच्चों को वेदों का ज्ञान दें। यदि इसमें उन्हें कोई समस्या आ रही हो तो वह विधायक विजय कश्यप के माध्यम से अपनी समस्याओं को सरकार के पास भेज दें, प्राथमिकता से उनका निराकरण कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह आश्रम 1960 में गुरुकुल के वरिष्ठ आचार्य अभयदेव द्वारा स्थापित किया गया। इस आश्रम का शिलान्यास प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने किया था और प्रथम राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद ने गौशाला के लिए पांच लाख का ऋण उपलब्ध कराया था। उपमुख्यमंत्री ने वैदिक यज्ञशाला का फीता काटकर उद्घाटन किया। उन्हें शाल ओढ़कर सम्मानित किया गया।

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस