मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। भारतीय किसान यूनियन के संस्थापक चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत की 87वीं जयंती पर गुरुवार को किसान भवन सिसौली पर कई राजनीतिक दिग्गज जुटे। राष्ट्रीय लोकदल अध्यक्ष व राज्यसभा सदस्य जयन्त चौधरी ने कहा कि समय आ गया है कि किसान-मजदूर जात-पात भूलकर एकजुट हों। देश में जो सियासी माहौल बन रहा है, उसमें सभी विपक्षी दल व किसान संगठनों को भाजपा के खिलाफ एकजुट होना चाहिए। उधर, भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा कि किसान बारूद के ढेर पर बैठा है। भाकियू इसे बर्दाश्त नहीं करेगी, सरकार के खिलाफ आंदोलन तेज होगा। ट्रैक्टर-ट्राली पर पाबंदी हमें मंजूर नहीं है।

जयन्त ने कहा कि फौज की नौकरी थी, जिसमें गांव के युवा उत्साह से जाते थे। नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि इन्होंने (भाजपा) इसे खराब कर दिया है। सरकार ने किसानों को अपने परिवार को ट्रैक्टर-ट्राली पर ले जाने पर ही रोक लगा दी।

हमेशा यादों में जिंदा रहेंगे महेंद्र सिंह टिकैत: संजय सिंह

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि महेंद्र सिंह टिकैत हमेशा यादों में जिंदा रहेंगे। काले कृषि कानूनों के खिलाफ सदन में मैंने माइक तोड़कर विरोध जताया। आप संसद से सड़क तक किसानों के साथ है। जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय सिंह चौटाला ने कहा कि बाबा टिकैत ने तमाम उम्र किसानों की लड़ाई लड़ी। सरकार को उनके दरवाजे पर नाक रगड़नी पड़ी।

बारूद के ढेर पर बैठे हैं किसान: नरेश टिकैत 

नरेश टिकैत ने कहा कि किसान बारूद के ढेर पर बैठे हैं। सभी किसान एकजुट होकर काम करें। भाकियू प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने कहा कि ट्रैक्टर पर रोक सरकार की चाल है। बस और ट्रेन हादसे होते हैं, क्या ये बंद किए गए। 17 अक्टूबर को शामली में इसके विरोध में आंदोलन होगा। वहीं, आवास विकास कालोनी में भाकियू अराजनैतिक के पदाधिकारियों ने बाबा टिकैत को श्रद्धांजलि दी।

उद्देश्य से भटक गई है भाकियू : बालियान

मुजफ्फरनगर। केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान ने अपने आवास एटूजेड कालोनी पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में कहा कि भाकियू अपने उद्देश्य से भटक गई है। बाबा टिकैत के आदर्श और विचारधारा को जिंदा रखना होगा। सरकार किसान हित में कार्य कर रही है।

Edited By: Parveen Vashishta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट