पुरकाजी (मुजफ्फरनगर): स्वतंत्रता दिवस को लेकर कांवड़ यात्रा पूरी तरह देशभक्ति से सराबोर हो गई। पैदल कांवड़ियों से लेकर झांकी व दुकानों पर बड़ी संख्या में तिरंगे नजर आ रहे हैं। डीजे पर बजते देशभक्ति के गानों ने लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया है।

कांवड़ लेकर यात्री 24 घंटे गंतव्य की ओर जाते नजर आ रहे हैं। हर मिनट और घंटे यात्रियों की संख्या में इजाफा हो रहा है। पैदल यात्री, बाइक सवार व झांकी वाली कांवड़ों के ऊपर तिरंगे लगे हुए हैं। शिवभक्तों के कंधे पर कांवड़ है तो वहीं हाथों में तिरंगा लहरा रहा है। डीजे वाली कांवड़ों पर देशभक्ति गीत बज रहे हैं। 'दिल दिया है जान भी देंगे ए वतन तेरे लिए', 'मेरे देश की धरती सोना उगले-उगले हीरे-मोती', 'ऐ मेरे प्यारे वतन' व 'मेरा रंग दे बसंती चोला' जैसे गीतों की धुन पर कांवड़ देखने आए श्रद्धालु झूमते नजर आते हैं। गीतों के बीच में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आतंकवादियों के खिलाफ दिए गए भाषण की गूंज भी सुनने को मिलती है। कुछ देर के लिए शंकर भगवान के भजन बजाए जाते हैं, उसके बाद फिर से देशभक्ति चालू हो जाती है। पूरा वातावरण शिवमय व देशभक्ति से सरोबार हो गया है। गीतों की धुनों पर जहां एक ओर भोले डांस करते हैं वहीं, देहात के गांवों से झांकी देखने आए युवकों की भीड़ भी डांस करती हैं। तिरंगे के कारण कांवड़ यात्रा देशभक्ति यात्रा नजर आ रही है। पिछले तीन सालों से बढ़ी है तिरंगे की बिक्री

हाईवे पर सभी दुकानों के बाहर तिरंगे झंडे के स्टॉल लगे हैं। कीमत 40 रुपयों से शुरू होकर 80, 120, 150 व सबसे बड़ा झंडा 250 रुपये का बिक रहा है। दुकानदार मुकेश त्यागी, आदित्य भारद्वाज, अनिल त्यागी व अमित शर्मा आदि ने बताया कि पिछले करीब तीन सालों से तिरंगे की बिक्री में बढ़ोत्तरी हुई है। पहले कांवड़िया भगवा रंग के धार्मिक झंडे खरीदते थे, लेकिन अब ज्यादा तिरंगा बिकता है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप