मुजफ्फरनगर, जेएनएन। मुजफ्फरनगर सहित कई पड़ोसी जिलों में अवैध कागजों के आधार पर बेरोकटोक खनन की आवाजाही हो रही है। पुलिस और प्रशासन की मिली भगत से अवैध खनन का धंधा फलफूल रहा है। शिकायत सीधे लखनऊ पहुंची तो भूतत्व व खनिकर्म निदेशक डा. रोशन जैकब ने जिलाधिकारी को पत्र लिखकर तत्काल अवैध खनन परिवहन पर रोक लगाने के आदेश दिए हैं।

जिले के शहर और कस्बों में खनन का कारोबार करने वाले पुलिस की आंखों में धूल झोंककर हरियाणा से अवैध तरीके से खनन परिवहन कर रहे हैं। सीमावर्ती चौकियों से रात के समय में रेत और स्टोन के बड़े कैंटर जिले में पहुंच रहे हैं। शहर क्षेत्र के रुड़की रोड पर रामपुर तिराहे तक, शामली रोड और भोपा रोड पर सुबह के समय इन कैंटरों से छोटे वाहनों में खनन सप्लाई किया जा रहा है। सब कुछ खुलेआम होने के बाद भी इन पर कार्रवाई के लिए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी चुप्पी साधे हैं और प्रदेश के राजस्व को भी बड़ा घाटा पहुंचाया जा रहा है। इसकी शिकायत सहारनपुर के स्टोर क्रेशर स्वामियों ने सीधे भूतत्व व खनिकर्म निदेशालय से की है। शिकायत मिलने के बाद विभाग के निदेशक डा. रोशन जैकब ने मुजफ्फरनगर सहित आसपास के तीन अन्य जिलाधिकारियों को सख्त कार्रवाई के लिए पत्र लिखा है। डा. रोशन जैकब ने जिलाधिकारी को निर्देश दिए है कि हरियाणा के यमुनानगर से अवैध खनन कर जनपद में अवैध पत्रों से परिवहन कर विभिन्न ठिकानों पर पहुंचाया जा रहा है। यह माफिया बोगस प्रपत्रों से खरीद कर भंडारण दिखाते हैं। निदेशक ने डीएम को निर्देश दिए हैं कि वह अवैध परिवहन की रोकथाम के लिए हरियाणा से संदिग्ध वाहनों के प्रपत्रों की जांच कराए। एडीएम प्रशासन अमित सिंह ने बताया कि जानकारी मिली है। कार्रवाई के लिए टीम बनाई जा रही है।

Edited By: Jagran