मुजफ्फरनगर, जेएनएन। गांधी वाटिका और सरवट फाटक के निकट खस्ताहाल सड़क के विरोध में समाजसेवी सोमनाथ भाटिया ने पालिका परिसर में शुक्रवार को भूख हड़ताल शुरू की। दिनभर समाजसेवी पर किसी का ध्यान नहीं गया, लेकिन बाद में आला अधिकारियों तक शिकायत पहुंची तो पालिका प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में ईओ और नगर स्वास्थ्य अधिकारी मय टीम के मौके पर पहुंचे और उन्हें समझाया। समाजसेवी को साथ लेकर क्षेत्र का निरीक्षण किया।

समाजसेवी सोमनाथ भाटिया शुक्रवार को पालिका में नेता सुभाषचंद बोस की प्रतिमा के नीचे भूख-हड़ताल शुरू कर दी। उनका आरोप है कि गांधी वाटिका, सरवट फाटक के निकट सड़क पूरी तरह से खराब पड़ी है। जलभराव के कारण कीचड़ भर रहा है। ऐसे में पैदल निकलना भी दूभर है। जबकि इस क्षेत्र में तीन बड़े विद्यालय पड़ते हैं। नगर पालिका मामले पर कार्रवाई नहीं कर रही है। पालिका में सुबह से भूख-हड़ताल पर बैठे सोमनाथ भाटिया की शिकायत पर पालिका अधिकारी गंभीर नहीं रहे। सायंकाल सिटी मजिस्ट्रेट तक शिकायत पहुंची तो पालिका अधिकारियों की नींद टूट गई। ईओ विनय कुमार मणि त्रिपाठी, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. आरएस राठी, टीएस आरडी पोड़वाल मौके पर पहुंचे और जानकारी ली। ईओ ने तत्काल उन्हें भूख-हड़ताल से उठाया और साथ लेकर शिकायत स्थल का निरीक्षण किया। ईओ ने सड़क निर्माण के लिए अधिकारियों को इस्टीमेट बनाने के निर्देश दिए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस