मुजफ्फरनगर, जेएनएन। देर रात हुई मूसलाधार बारिश ने लोगों के सामने दिक्कतें खड़ी कर दी। 15 साल पूर्व खंड विकास कार्यालय की योजना के तहत बनाए गए मकान का लिंटर भरभरा कर गिर गया। धमात के प्रधान सचिन गुर्जर ने बताया कि गांव निवासी लाल्ला ने 15 साल पहले सरकारी सहायता से मकान बनाया था। भारी बारिश के चलते मकान का लिंटर भर भराकर गिर गया। अच्छी बात यह रही कि मलबे के नीचे कोई दबा नहीं। बताया कि लेंटर के नीचे सामान दबने से पीड़ित परिवार का नुकसान हो गया। मौके पर लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। प्रधान ने बताया कि परिवार को सामान टूटने का नुकसान हुआ है। कच्चे मकान गिरने से दो परिवारों के सात सदस्य घायल

बुढ़ाना : गांव मंडवाड़ा में बीते दो दिन से हो रही बारिश के चलते चार मकानों की कड़ियों की छत भरभराकर गिर गई। जिसमें दो परिवारों के सात सदस्य मलबे में दब कर घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

क्षेत्र के गांव मंदवाड़ा में तीन भाई अकरम, इसरार और सलीम मजदूरी का काम करते है। गांव में उनके कच्चे मकान बने है। बीते दो दिनों से हो रही वर्षा से कड़ियों की छत पर पानी भरने से शुक्रवार की अलसुबह उनके मकान की छत भरभराकर गिर गई। सभी परिवारों के लोग गहरी नींद में सोए हुए थे। कुछ लोग आंगन में थे तो महिला व बच्चे कमरों में सो रहे थे। मलबा उनके ऊपर गिरने से रेशमा पत्नी अकरम, जुनैद, इकरा, रिहान, आयशा और आलिया दब गए। चीख पुकार पर तीनों भाइयों व ग्रामीणों ने मलबा हटाकर घायलों को निकाला। इसी दौरान इसी गांव में मुंतजिर के मकान की छत भी भरभराकर गिर गई। जिसमें मुंतजिर की पत्नी भोली भी घायल हो गयी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को अस्पताल भर्ती करवाया। सूचना पर तहसीलदार जयेंद्र सिंह लेखपाल आदि के साथ मौके पर पहुंच घटना की जानकारी ली।

Edited By: Jagran