मुजफ्फरनगर, जेएनएन। शहर कोतवाली क्षेत्र के बालाजी चौक स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक में गार्ड के कंधे पर टंगी बंदूक सीलिग टूटने से फर्श पर गिर गई, जिससे चली गोली में एक महिला समेत तीन लोग पैरों में छर्रे लगने से घायल हो गए। इससे बैंक में अफरातफरी भी मच गई थी। पुलिस ने घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

शहर कोतवाली क्षेत्र के बालाजी चौक पर इंडियन ओवरसीज बैंक है। बैंक में अंबा विहार निवासी मेहंदी हसन बतौर गार्ड तैनात हैं। बुधवार दोपहर बाद बैंक की सीलिग टूटने के कारण गार्ड की बंदूक कंधे से फर्श पर गिर गई, जिससे गोली चल गई। इस दौरान बैंक में आई मल्हूपुरा निवासी रूबीना, आनंदपुरी निवासी गौरव और मखियाली निवासी मनु चौधरी पैरों में छर्रे लगने से घायल हो गए। एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय, सीओ सिटी कुलदीप कुमार और शहर कोतवाल संतोष यादव घटना स्थल पर पहुंचे। पुलिस अधिकारियों ने बैंक के गार्ड, घायल और अन्य लोगों से जानकारी ली। इसके अलावा पुलिस ने बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगाली। जानकारी मिलने पर घायलों के स्वजन जिला अस्पताल पहुंचे। शहर कोतवाल संतोष त्यागी का कहना है कि तहरीर मिलने पर मामला दर्ज किया जाएगा।

हो सकता था बड़ा हादसा

गनीमत रही की गोली ऊपर की ओर नहीं चली, अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। जैसे की बंदूक फर्श पर गिरी तो उससे निकली गोली वहां बैठी महिला और अन्य लोगों के पैर में लगी। अगर गोली ऊपर की ओर चलती तो बड़ा हादसा हो सकता था।

नाले में मिला सिचाई विभाग के कर्मचारी का शव

मुजफ्फरनगर, जेएनएन। सिचाई विभाग के गंगनहर खंड में तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का शव नाले में मिला है। युवक को अक्सर मिर्गी का दौरा पड़ता था। बुधवार को गांव जाते समय भी उसकी तबीयत बिगड़ गई, जिसके चलते वह बांस का सहारा लेकर खड़ा हो गया। इसी दौरान चक्कर आने पर वह नाले में गिर गया। जंधेड़ी गांव निवासी सिचाई विभाग के ठेकेदार राजकुमार का पुत्र कमल कुमार परिवार के साथ खतौली के सैनीनगर मोहल्ले में रहता था। वह मुजफ्फरनगर में सिचाई विभाग के गंगनहर खंड में चतुर्थ श्रेणी कर्मी था, जो वर्ष 2007 में भर्ती हुआ था। बुधवार सुबह वह बाइक से जंधेड़ी गांव जा रहा था। ताजपुर गांव के मुख्य मार्ग पर पहुंचते ही उसकी तबीयत बिगड़ गई, जिसके चलते कमल सड़क किनारे गड़े बांस को पकड़कर खड़ा हो गया। गश आने पर वह नाले में गिर गया। नाले की गहराई होने के कारण वह बाहर नहीं निकल सका। युवक को नाले में गिरता देख राहगीरों ने पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने उसे बाहर निकलवाया, लेकिन तब तक वह दम तोड़ चुका था। मृतक की बाइक, मोबाइल और पर्स उसके पास ही मिला है। उसके कान में मोबाइल फोन की लीड लगी थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की वास्तविक वजह स्पष्ट हो सकेगी।

Edited By: Jagran