जेएनएन, मुजफ्फरनगर। बरसात के दिनों में जलजनित बीमारियां जैसे-डेंगू तथा मलेरिया लोगों को जकड़ रही हैं। वातावरण में नमी तथा उमस रहने के चलते वायरल बुखार भी परेशान कर रहा है। ऐसे में एमडी मेडिसिन डा. साबिर अली मलेरिया व डेंगू से सावधान रहने की सलाह दे रहे हैं। मच्छर कई बीमारियों के वाहक, बरतें एहतियात

वरिष्ठ फिजीशियन डा. साबिर अली ने बताया कि बारिश में घरों या घरों के बाहर पोखरों व गड्ढों में एकत्र पानी में मच्छर पैदा हो जाते हैं। मादा एनाफिलीज के काटने से मलेरिया तथा एडीज मच्छर के काटने से डेंगू बुखार का खतरा रहता है। इसलिए घर या बाहर पानी को एकत्र न होने दें। कूलर तथा फ्रिज आदि की ट्रे भी खाली करते रहें। फागिग कराएं एवं पूरी आस्तीन की शर्ट पहने। सफाई का विशेष ध्यान रखें। डायरिया व पीलिया का भी खतरा

डायरिया व पीलिया के मरीजों में भी इजाफा हो रहा है। इनसे बचने के लिए खुले में रखा तथा बासी खाना न खाएं। मक्खियों को पनपने न दें। पानी का खास ख्याल रखें। बेहतर है कि पानी उबाल कर व ठंडा कर पिएं।

निजी व सरकारी अस्पतालों में बढ़ रहे डेंगू, बुखार के मरीज

बारिश के मौसम में बीमारियां पैर पसार रही हैं। जिला अस्पताल सहित निजी चिकित्सकों के यहां डेंगू तथा वायरल पीड़ित मरीजों की लाइन लगी है। जिला अस्पताल की ओपीडी में प्रतिदिन वायरल, मलेरिया तथा सामान्य बुखार से पीड़ित सैकड़ों मरीज पहुंच रहे हैं। ग्रामीण, शहरी क्षेत्र में फागिग व हो रहा एंटी लार्वा का छिड़काव

डीएम के आदेश पर जिले के ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में मच्छरों से बचाव के लिए नियमित फागिग तथा एंटी लार्वा का छिड़काव कराया जा रहा है। डीएम की निगरानी में टास्क फोर्स फागिग तथा एंटी लार्वा छिड़काव का पर्यवेक्षण कर रही है। इन्होंने कहा..

बरसात व बदलते मौसम के चलते डेंगू तथा वायरल पीड़ित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। सभी से मच्छरों से बचाव के लिए आसपास पानी एकत्र न होने देने की अपील की जा रही है।

- डा. पंकज अग्रवाल, सीएमएस

Edited By: Jagran