मुजफ्फरनगर, जेएनएन। पुरकाजी क्षेत्र के फलौदा गांव में 'सरकार आपके द्वार' कार्यक्रम के तहत लगाए गए कैंप में ग्रामीणों ने गांव में फैल रही कैंसर की बीमारी तथा सीएचसी पर स्टाफ भेजने की मांग रखी। ग्रामीणों ने रास्ते, आवास, राशन, बिजली के मुद्दे भी उठाए।

फलौदा गांव स्थित राजकुमार जनता इंटर कालेज में 'सरकार आपके द्वार' के तहत शनिवार सुबह दर्जनों विभागों के अफसर ग्रामीणों की समस्याओं के समाधान के लिए पहुंचे। सहायक श्रम आयुक्त प्रतिभा तिवारी ने बताया कि कैंप में पशुपालन, श्रम, बाल विकास, पंचायत, कृषि, राजस्व, स्वास्थ्य, समाज कल्याण, बाल विकास आदि विभागों की ओर से कैंप लगाया गया। ग्रामीणों ने अफसरों के सामने गांव में करोड़ों की लागत से बनी सीएचसी पर स्टाफ नहीं होने की समस्या रखी। उन्होंने कहा कि गांव में कैंसर महामारी का रूप ले रहा है। उन्होंने कैंसर से निजात दिलाने की मांग उठाई। इनके अलावा किसान सम्मान निधि, आवास, राशन, गांव के मुख्य मार्ग की पुलिया निर्माण संबंधी समस्याओं से भी अवगत कराया। नोडल अधिकारी प्रतिभा तिवारी ने ग्रामीणों को समाधान का आश्वासन दिया। इस दौरान बीडीओ अरुण कुमार, संयोगिता सिंह, नीरज कौशिक, शक्ति सिंह, ओमवीर सिंह, प्रधानपति जसवंत त्यागी, नाथीराम त्यागी, प्रमोद त्यागी, सुनील त्यागी, अशोक त्यागी, पप्पू मुखिया, जितेंद्र शर्मा, पवन त्यागी, सतीश धीमान आदि मौजूद रहे।

पात्र को मिलेंगे चार पशु, खर्चा देगी सरकार

बीडीओ अरुण कुमार ने बताया कि ब्लाक के हर गांव में व्यक्तिगत गौशाला खोली जाएंगी। इसमें पात्र व्यक्ति सरकार की ओर से दिए गए चार पशुओं को रख सकता है। इसके लिए शासन की ओर से एक पशु की खुराक के लिए तीस रुपये प्रतिदिन के हिसाब से भुगतान किया जाएगा। इसके लिए विधवा, दिव्यांग, अनुसूचित जाति के लोग तथा भूमिहीन व्यक्ति पात्र होंगे। 30 नवंबर-2019 तक के ब्लाक की ओर से चयनित पशु ही पात्रों को दिए जाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस