मुरादाबाद : शनिवार की दोपहर दो बजे डबल फाटक स्थित रेलवे ट्रैक पर दर्दनाक हादसा हुआ। जेल से जमानत पर छूट कर आए धर्मेद्र की गरीब नवाज एक्सप्रेस की चपेट में आकर मौत हो गई। धर्मेद्र 30 जून को नाबालिग प्रेमिका को भगाने के आरोप में जेल गया था। ये है पूरा मामला शाहजहांपुर का रहने वाला धर्मेद्र मुरादाबाद की शिवपुरी में रहकर काम करता था। उसे पड़ोस में रहने वाली किशोरी से मुहब्बत हो गई। किशोरी को साथ लेकर वह फरार हो गया। किशोरी के परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर 30 जून को जेल भेज दिया गया था। शनिवार को धर्मेद्र जमानत पर छूटने के बाद शिवपुरी जा रहा था। डबल फाटक पर रेलवे लाइन पार कर रहा था। तभी पीछे से गरीब नवाज एक्सप्रेस आ गई। धर्मेद्र ने आगे भागने की कोशिश की। इसी बीच आगे के ट्रैक पर मालगाड़ी आ गई। धर्मेद्र पीछे हटा तो उसका पैर रेलवे ट्रैक में फंस गया। उस समय ट्रैक के आसपास लोगों की भीड़ जमा थी। धर्मेद्र ने मदद के लिए लोगों से गुहार लगाई। उस समय ट्रेन नजदीक आ चुकी थी। दो हिस्सों में बंट गया शरीर ट्रेन ऊपर चढ़ने से धर्मेद्र का शरीर दो हिस्सो में बंट गया। आसपास के लोगों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। जीआरपी और कटघर पुलिस मौके पर पहुंची। चौकी प्रभारी सतीश कुमार ने मृतक को पहचान लिया। दरअसल, उन्होंने छह माह पहले धर्मेद्र को जेल भेजा था। शव को कब्जे में लेकर मोर्चरी में रखवा दिया। चौकी प्रभारी सतीश ने बताया कि धर्मेद्र के परिजनों को शाहजहांपुर फोन पर सूचना दे दी गई है।

Posted By: Jagran