मुरादाबाद [मेहंदी अशरफी]। पेशे से व्यापारी हैं। काम की वजह से समय का भी अभाव है लेकिन, इंसानियत का जज्बा कूट-कूटकर भरा है। मां को खून न दे पाने की कसक ने बनवारी लाल तोदी को सबके लिए मददगार इंसान बना द‍िया। 18 साल की उम्र से लगातार इंसानियत के लिए खून देने वाले इस व्यापारी ने अनगिनत बार लोगों को खून देकर जान बचाई है। आज इनकी 47 साल की उम्र हो चुकी है लेकिन, दूसरों की जान बचाने का जज्बा वही है। कोशिश रहती है कि उनके खून से किसी की जिंदगी बच जाए।

कहते हैं क‍ि मेरे एक खून के कतरे से किसी को जिंदगी मिलती है ताे शरीर का एक-एक कतरा निकाल लो। व्यापारी बनवारी लाल तोदी के इस जज्बे को हर कोई सलाम करता है। उन्होंने अपने वाट्सएप स्टेटस पर भी अपना ब्लड ग्रुप लिख रखा है। 18 साल की उम्र से लगातार रक्तदान करते आ रहे हैं। जिले की सामाजिक संस्था जागृति केंद्र से जुड़े होने की वजह उसे उनके पास लगातार किसी न किसी का बी-पॉजिटिव रक्त के लिए फोन आता रहता है। नौ मई को उन्होंने कोरोना संक्रमित की जिंदगी के लिए प्लाज्मा भी दान किया। उनका कहना है कि कितना भी काम हो, अगर खून के लिए किसी की काल आ जाती है तो उसके बाद कार्यालय में बैठना मुश्किल हो जाता है। जल्द से जल्द ब्लड बैंक पहुंचने का प्रयास करते हैं।

किसी का नाम नहीं पूछते

बनवारी लाल तोदी को कॉल आ जाए तो वो सीधे ब्लड बैंक में पहुंच जाते हैं। कॉल करने वाले से बात करने के बाद कहते हैं कि भाई खून दे दिया है। आप आकर ले जाइये। इसके बाद वो खुद के पैसों से ही जूस मंगवाकर पीते हैं। उनका प्रयास रहता है कि रक्तदान से बड़ा कोई दान नहीं है। मन बहुत अच्छा रहता है कि किसी के काम मेरी जिंदगी आ रही है।

रक्तदाता दिवस की पूर्व संध्या पर रक्तदान

जागृति केंद्र सदस्य विजय अवस्थी ने रक्तदाता दिवस की पूर्व संध्या पर साईं अस्पताल में रक्तदान किया। संस्था अध्यक्ष सीए अजित अग्रवाल ने बताया कि जागृति केंद्र 29 साल से लगातार समाज की सेवा में जुटी है। हमारा प्रयास है कि लोग इस अनमोल चीज का मोल समझें। खून किसी फैक्ट्री में नहीं बनता है। इसलिए स्वेच्छा से रक्तदान करें। जिससे किसी की जिंदगी को बचाया जा सके। रक्तदान करने के लिए मोबाइल नंबर 9359848656, 9368135699, 9837150633, 9458845336, 9897540010 पर संपर्क कर सकते हैं। जिस ब्लड बैंक में खून की जरूरत होगी वहां उनका रक्तदान कराया जाएगा। क्योंकि कोरोना संक्रमण की वजह से रक्तदान शिविर का आयोजन कराना संभव नहीं है। रक्तदान संयोजक संजय नारंग ने बताया कि हमारा प्रयास रहता है कि जरूरतमंद की सांसें खून के बिना नहीं रुके। इस दौरान लकी भाटिया, संदीप अग्रवाल, गौरव गुप्ता, विजय अवस्थी, बनवारी लाल तोदी आदि रक्तदान कर चुके हैं। 

Edited By: Narendra Kumar