रामपुर (मुस्लेमीन)। जिले की मिलक तहसील में महिलाओं का राज चलता है। विधायक राजबाला हैं तो ब्लाक प्रमुख अर्चना गंगवार। शहर की चैयरमैन केतकी गंगवार है। उप जिलाधिकारी ज्योति गौतम हैं तो क्षेत्राधिकारी सलौनी अग्रवाल हैं। मिलक निवासी बीना भारद्वाज भी विधायक रही हैं तो दीक्षा गंगवार 15 साल तक लगातार मिलक की चेयरमैन रहीं। 

इनके अलावा कई महिलाएं रामपुर की जिलाधिकारी और जिला जज भी रही हैं। अब भी रामपुर की जिला जज महिला हैं। वैसे रामपुर की सियासत में महिलाओं का भी दबदबा रहा है। फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा और बेगम नूरबानो दो-दो बार रामपुर की सांसद रही हैं। सांसद आजम खां की पत्नी डॉ. तजीन फात्मा राज्यसभा सदस्य थी, अब विधायक बन गई हैं, जबकि रेशमा बी लगातार दस साल रामपुर शहर की चेयरमैन रही हैं। जाहिदा सलाम जिला पंचायत अध्यक्ष रहीं। 

चार बार रामपुर की सांसद बनीं महिलाएं

नवाबों के शहर रामपुर में महिलाएं सियासत में भी किसी से कम नहीं हैं। नवाब खानदान की बेगम नूरबानो दो बार सांसद चुनी गईं। फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा दस साल तक रामपुर की सांसद रहीं। सपा सांसद आजम खां की पत्नी डॉ. तजीन फात्मा राज्यसभा सदस्य थी। अब वह रामपुर शहर विधानसभा क्षेत्र से उपचुनाव भी जीत गई हैं। इस तरह जिले में पांच विधायकों में से दो महिलाएं हैं। जाहिदा सलाम पांच साल तक जिला पंचायत चेयरमैन रहीं, जबकि रेशमा भी लगातार दो बार रामपुर शहर की चेयरमैन चुनी गईं। बेगम किश्वर आरा भी रामपुर शहर की विधायक रहीं। जिले में नगर निकायों में तो अब भी महिलाओं का दबदबा है। यहां आठ निकायों में पांच पर महिलाओं का कब्जा है। इनमें रामपुर शहर में फातिमा अजहर, स्वार में रेशमा परवीन, टांडा में महनाज जहां, मिलक में केतकी गंगवार और शाहबाद में शमा परवीन चेयरमैन हैं।

नौ महिलाएं रहीं जिलाधिकारी

रामपुर में जिलाधिकारी की कुर्सी पर भी महिलाएं काबिज रही हैं। निवेदिता शुक्ला वर्मा जैसी तेज तर्रार आइएएस समेत नौ महिलाएं रामपुर की डीएम रह चुकी हैं। साधना गोस्वामी तो लंबे समय तक रामपुर की अपर पुलिस अधीक्षक और फिर पुलिस अधीक्षक रहीं। वह लोगों की समस्या को अच्छे समझने के साथ ही उसका तत्काल समाधान कराती थीं। उन्हें आज भी रामपुर के लोग याद करते हैं। वर्तमान में जिला विकास अधिकारी कमलेश सचान, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ऐश्वर्या लक्ष्मी और जिला पूर्ति अधिकारी रीना कुमारी हैं।   

महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं, यह अच्छी बात है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी महिलाओं को आगे बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं। सरकार बेटी पढ़ाओ, बेटी बढ़ाओ की नीति पर काम कर रही है। अपने जिले में महिलाएं पहले से ही हर क्षेत्र में आगे रही हैं। लोगों को अपनी बेटियों को अच्छी शिक्षा दिलाने के साथ ही उन्हें कामयाब बनाने के लिए प्रयास करने चाहिए। 

- राजबाला, विधायक

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप