मुरादाबाद, जेएनएन। कटघर थाना क्षेत्र निवासी एक युवक प्राइवेट बैंक में काम करता है। उसके साथ में एक युवती भी काम करती है। दोनों में बीते करीब चार साल तक प्रेम प्रसंग चलता रहा। हालांकि युवक पहले से शादीशुदा होने के साथ ही उसका बेटा भी है।

युवक और उसकी प्रेमिका का दावा है कि डेढ़ साल पहले दोनों का ब्रेकअप हो गया था। हालांकि इसके बाद युवक के मोबाइल पर मैसेज आते रहते थे। दो दिन पहले युवक की पत्नी ने मैसेज देख लिया तो विवाद शुरू हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि युवक की पत्नी उसकी प्रेमिका के साथ ही पति को लेकर भी थाने पर पहुंच गई। इस दौरान महिला ने पति और युवती के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। जबकि थाने में युवक और युवती आपस में कोई संबंध न होने की बात कहते रहे। करीब दो घंटे तक चले हंगामे के बाद बातचीत कर समझौता हो गया। इस दौरान महिला के पति ने भरोसा दिलाया कि वह युवती से कोई संबंध नहीं रखेगा। महिला की शिकायत के आधार पर पुलिस ने युवक का शांति भंग में चालान करने की कार्रवाई करके पूरे मामले को शांत कर दिया। 

तीन तलाक मामले में कार्रवाई : कानून बनने के बाद भी रामपुर में तीन तलाक के मामले रुक नहीं रहे। अब फिर एक महिला को दहेज के लिए प्रताड़ित किया गया और बाद में पति ने तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया। पुलिस ने इस मामले में पति समेत पांच ससुरालियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। मामला अजीमनगर थाना क्षेत्र का है। यहां के एक गांव की रहने वाली परवीन की शादी स्वार कोतवाली क्षेत्र के असालतपुर गांव निवासी शकील के साथ हुई थी। शादी में हैसियत के मुताबिक दान दहेज दिया था। आरोप है कि ससुराली दहेज से खुश नहीं थे। वे कम दहेज लाने का ताना देते थे और ज्यादा दहेज लाने की मांग करते थे। महिला ने मायके वालों की आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए असमर्थता जताई। इस पर ससुरालियों ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। उसके साथ मारपीट की और पति ने तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया। पीड़िता मायके आ गई। स्वजन को बताया तो उनके होश उड़ गए। स्वजन उसे लेकर थाने आ गए। ससुरालियों के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने पति शकील समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Edited By: Narendra Kumar