जासं, मुरादाबाद: उत्तर प्रदेश बोर्ड के परिणाम से असंतुष्ट छात्रों की अंक सुधार परीक्षाएं शनिवार से शुरू हो गईं। कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं हुईं। परीक्षाएं छूटने पर सभी परीक्षार्थियों का कहना था कि नंबर कम आएं या ज्यादा, इससे फर्क नहीं पड़ता। कम से कम हम यह कह सकेंगे कि परीक्षा देने के बाद ये अंक हमने पाए हैं। शनिवार को दसवीं व 12वीं की हिदी विषय की परीक्षा थी, जिसमें छात्र-छात्राओं ने कहा कि दो घंटे कम थे, इसलिए कुछ प्रश्न छूट गए। लेकिन, कुछ ने समय कम होने के साथ प्रश्न पत्र में सवाल कम होने के हिसाब से समय ठीक बताया। 12वीं के परीक्षार्थियों ने कहा कि औसत प्रश्न पत्र था। मानसरोवर कालोनी स्थित साईं कन्या इंटर कालेज की 12वीं की 70 छात्राओं में 35 छात्राएं अंक सुधार परीक्षा दे रही हैं। इस कालेज की छात्राओं को परिणाम में फेल करने पर हंगामा, विरोध, मारपीट के बाद उप्र बोर्ड ने प्रोन्नत कर दिया था। लेकिन, प्रोन्नत में अंक तालिका पर अंक नहीं लिखे होने पर विरोध जारी रहा। एक महीने तक विरोध, हंगामा के बाद भी सफलता नहीं मिलने पर 35 छात्राएं भी सम्मलित हो रही हैं। परीक्षार्थियों को मास्क और सैनिटाइजेशन के साथ परीक्षा में बैठाया गया है।

---

मैं परिणाम से संतुष्ट नहीं थी। अंक सुधार परीक्षा देकर खुशी हो रही है। हिदी का प्रश्न पत्र भी आसान आया। समय से पूरा किया।

-सिमरन

---

जब संतुष्ट नहीं थे तभी अंक सुधार का फार्म भरा था। परीक्षा का समय कम मिला लेकिन, सवाल कम आने से समय से पूरा कर दिया।

-याचिका

---

परीक्षा देकर संतुष्ट हूं लेकिन, समय कम था। इसलिए एक प्रश्न छूट गया। मगर जो भी नंबर आएंगे उससे खुशी मिलेगी।

-हर्ष भटनागर

----

परीक्षा देकर आत्मविश्वास बढ़ा है। डर लग रहा था कि कैसा प्रश्न पत्र आएगा लेकिन, सभी प्रश्न पत्र हल कर दिए।

रंजीत यादव

------

इनसेट

दसवीं में 22 और 12वीं में 54 परीक्षार्थी गैर हाजिर

जिले के 12 केंद्रों पर 1271 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए हैं। यह परीक्षार्थी पूर्व में घोषित परिणाम से असंतुष्ट थे। सुबह की पाली में हाईस्कूल की परीक्षा हुई जिसमें 365 छात्र पंजीकृत थे और 343 उपस्थित हुए 22 परीक्षार्थी गैरहाजिर रहे। 12वीं में दूसरी पाली के 526 परीक्षार्थी में 54 परीक्षार्थी गैर हाजिर रहे। हाई स्कूल की परीक्षाओं में कुल 578 और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं में 993 पंजीकृत हैं। सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में परीक्षाएं शांतिपूर्वक निपट गई। डीआइओएस अरुण कुमार दुबे ने आदर्श बिहारी कन्या इंटर कालेज में निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि कहीं से भी किसी प्रकार की शिकायत नहीं मिली है।

Edited By: Jagran