मुरादाबाद।  ग्रामपंचायत गोट के प्राथमिक विद्यालय मेदनीपुर में रविवार को स्कूल का छज्जा गिर जाने से एक बच्चे जयकिशन की मौत हो गई थी। घटना के बाद सोमवार को बेसिक शिक्षा अधिकारी योगेंद्र कुमार परिवारीजनों से मिलने पहुंचे तो ग्रामीणों ने उन्हें बंधक बना लिया और जिलाधिकारी को बुलाने की मांग करने लगे। हालांकि, बाद में घटनास्थल पर पहुंंचे एसडीएम सदर हिमांशु वर्मा ने ग्रामीणों को समझाबुझा कर शांत कराया और कार्रवाई का आश्वासन दिया। तब जाकर ग्रामीणों ने बीएसए को छोड़ा।

मिली जानकारी के अनुसार प्राथमिक विद्यालय के गेट के ऊपर बनी दीवार पर खेल-खेल में चढ़ गए थे। स्कूल पहले से ही जर्जर था, ऐसे में छज्जा बच्चों का भार सहन नहीं कर पाया और नीचे गिर गया। जिससे नीचे खड़े जयकिशन की अस्पताल ले जाने के दौरान ही मौत हो गई,दूसरा बच्चा घायल है और अस्पताल में भर्ती है। इस घटना के बाद ही बेसिक शिक्षा अधिकारी परिवारीजनों से मिलने पहुंचे थे। उधर, स्कूल के प्रधानाध्यापक अंशुल गुप्ता का कहना है कि जर्जर भवन की मरम्मत के लिए उन्होंने विभाग को सूचना दी थी। बेसिक शिक्षा अधिकारी योगेंद्र कुमार का कहना है कि इस मामले में पूरी जांच करवाई जाएगी।

 घटना के बाद ग्रामीणों में आक्रोश था। जिस कारण उन्होंने बीएसए को बंधक बना लिया था। ग्रामीणों को शांत कराकर बेसिक शिक्षा अधिकारी को जांच के आदेश दिए गए हैं।

- हिमांशु वर्मा, एसडीएम सदर 

हादसे के बाद गुस्‍से में हैं ग्रामीण 

हादसे में छात्र की मौत के बाद ग्रामीणों में गुस्‍सा है। उनका कहना है कि अगर विभाग ने समय रहते स्‍कूल की मरम्‍मत करा दी होती तो इतना बड़ा हादसा नहीं होता। लापरवाही की वजह से एक छात्र की जान चली गई। इसके लिए जो लोग भी जिम्‍मेदार हैं उन पर कार्रवाई होनी चाहिए।  

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस