-- कुक्कुटशाला रोड पर दी जानी है 72 वेंडरों को पोर्टेबल दुकानें जागरण संवाददाता, मुरादाबाद: दीनदयाल शहरी आजीविका मिशन के तहत नवरात्र में भी वेंडरों को दुकाने नहीं मिल पाईं। इसको लेकर सोमवार को बैंकों ने पीलीकोठी स्थित नगर निगम कैंप कार्यालय पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि एक तरफ पीएम स्वनिधि निधि योजना के तहत 10000 रुपये ऋण देने की तैयारी में है। दूसरी ओर इस ऋण का तब तक वेंडरों को फायदा नहीं मिलेगा, जब तक दुकानें आवंटित नहीं हो जातीं। सोमवार को टाउन हॉल के करीब 40 रेहड़ी पटरी वालों ने पीलीकोठी स्थित नगर निगम कार्यालय पर जमा होकर अपना विरोध जताया। कमल सक्सेना ने कहा कि नवरात्र में दुकानें देने का वादा झूठा साबित हुआ। टाउन हॉल से हटाने के बाद दो साल घर में खाली बैठे हो गए हैं। पिछले साल भी दीवाली फीकी रही। कोरोना के कारण आठ महीने से कारोबार अभी चौपट है। स्टॉल मिलने की उम्मीद थी वह भी नहीं मिला। जबकि पोर्टेबल दुकानों के लिए पहली किस्त नगर निगम में जमा करा दी गई है। महानगर में करीब 2000 वेंडर हैं इन्हें वेंडिग जोन में स्टाल देनी है। लेकिन, अभी तक नगर निगम टाउन हॉल से उजाड़े गए 70 वेंडरों को ही दो साल से स्टॉल नहीं दे पाया तो बाकी की बात तो छोड़ ही दीजिए। शहर में 14 वेंडिग जोन चिह्नित किए गए थे अभी कुक्कुटशाला रोड के अलावा कोई भी वेंडिग जोन फाइनल नहीं हुआ।

--

वर्जन

-- नगर निगम की ओर से दुकानें देने की तैयारी पूरी है। चार नवंबर को पोर्टेबल दुकानें आवंटित कर दी जाएंगी। -- संजय चौहान, नगर आयुक्त।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस