मुरादाबाद (प्रदीप चौरसिया): पहचान और निवास स्थान साबित करने के लिए आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र आदि नहीं है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। अब लैंडलाइन ही आपकी पहचान बनकर सामने आएगा। इसे सरकारी मान्यता भी मिलेगी। खत्म हो जाएगी दिक्कत

50 हजार रुपये से अधिक का सामान खरीदने जा रहे हैं, स्कूल में बच्चे का दाखिला कराने जा रहे हैं, होटल में रुक रहे हैं तो पहचान पत्र की जरूरत पड़ती है। कुछ मामले में आप कहा जा रहे हैं, इसका भी प्रमाण देना पड़ता है। इसी के मद्देनजर सरकार ने आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, डाक पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट आदि को मान्यता दी है। इसके अलावा वर्तमान में कहा रह रहे हैं। इसके लिए नगर निगम की हाउस टैक्स की रसीद के साथ फोटोयुक्त पहचान पत्र दिखाना पड़ता है। सफर में हैं या शहर से बाहर हैं और पहचान पत्र भूल गए हैं तो कई प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसके समाधान के लिए सरकार ने लैंडलाइन का विकल्प तैयार किया है। बीएसएनएल ने ऑनलाइन किए आवेदन

सरकार के निर्देश के बाद बीएसएनएल ने लैंडलाइन धारकों के फोटोयुक्त आवेदन ऑनलाइन कर दिए हैं। इसे बीएसएनएल के एप या उसकी साइट पर जाकर देखा जा सकता है। पहचान के साथ ही संबंधित व्यक्ति कहा रह रहा है, इसका भी प्रमाण मिल जाएगा। लैंडलाइन जहा लगा होगा वहीं का पता दर्ज होगा। प्रमाण पत्र मागने वाले लैंडलाइन पर कॉल कर सत्यापन भी कर सकते हैं। दरअसल सरकार लैंडलाइन की संख्या बढ़ाने के लिए प्रयासरत है। लैंडलाइन के रिकार्ड चंडीगढ़ सर्वर में सुरक्षित हैं। माना जा रहा है कि इसके बाद लैंड लाइन की मांग बढ़ जाएगी।

बीएसएनएल के महाप्रबंधक संजय प्रसाद ने बताया कि लैंडलाइन नंबर के द्वारा आवेदक के नाम, पता आदि की जानकारी की जा सकती है। आम जन के लिए नयी सुविधा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप