मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। कोरोना काल में बिना परीक्षा के पुराने परिणाम पर नया प्रदर्शन हुआ है। जिले के दसवीं व 12वीं के 86,444 छात्रों का परिणाम जारी हो गया है। अबकी बार जिले वार परिणाम घोषित नहीं हुआ है। पिछले साल 78.11 फीसद परिणाम रहा था। जिससे 2021 के परिणाम पिछले साल से अधिक होने की उम्मीद जताई जा रही है। छात्र-छात्राओं ने अपने परिणाम देखे और स्कूल भी पहुंचकर खुशी मनाई।

उप्र बोर्ड ने पहले ही साफ कर दिया दिया था कि अबकी बार उप्र स्तर, मंडल या जिला स्तर की टाप-10 की सूची जारी नहीं की जाएगी। यहीं नहीं विद्यालयों को भी एनआइसी से परिणाम नहीं जारी क‍िए गए। इससे उप्र बोर्ड द्वारा पूरे प्रदेश के परिणाम बिना टापर घोषित किया है। जिससे स्कूल प्रशासन में भी उत्सुकता बनी रही कि किस तरह टापर का पता लगे। जिले में 334 माध्यमिक स्कूल हैं। इनमें आधे से अधिक स्कूल तो परिणाम जानने के लिए खुले ही नहीं। डीआइओएस कार्यालय से लेकर स्कूलों ने क्षेत्रीय कार्यालय माध्यमिक शिक्षा परिषद बरेली से लेकर उप्र बोर्ड प्रयागराज से संपर्क साधा लेकिन, जिले का परिणाम कितने फीसद रहा, इसकी जानकारी डीआइओएस कार्यालय को नहीं मिली। स्कूलों ने अपने स्तर से कुछ ऐसे छात्रों का परिणाम निकाला जो पढ़ने में अच्छे हैं। उसके आधार पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान की सूची तैयार की। लेकिन, प्रधानाचार्य इन टाप थ्री को लेकर भी असमंजस में थे। कारण, पूरा परिणाम वह भी एक-एक करके छात्र का नहीं देख पाए हैं। परिणाम आने के बाद चित्रगुप्त कालेज, सरस्वती शिशु मंदिर गुलाबबाड़ी, आकांक्षा विद्यापीठ इंटर कालेज, साहू रमेश कुमार कन्या इंटर कालेज, एसडीएम लाइनपार समेत कई स्कूलों में छात्र-छात्राओं ने पहुंचकर खुशी मनाई। 

अबकी बार नहीं दिखा पिछले साल जैसा उत्साह : अबकी बार वह उत्साह नहीं दिखाई दिया जो पिछले सालों में रहता था। कोरोना के कारण बिना परीक्षाओं के पुराने प्रदर्शन पर नया परिणाम जारी किया गया है। जिससे छात्रों व स्कूलों में उत्साह नहीं दिखा। जो बच्चे स्कूल पहुंच गए वह जरूर खुश नजर आए। अपने 11वीं के पंजीयन संख्या के आधार पर वेबसाइट पर जाकर रोल नंबर निकाला और फिर परिणाम देखा।

वेबसाइट पर देखा परिणाम : उप्र बोर्ड 10वीं व 12वीं का परिणाम शनिवार को दोपहर 3.30 बजे आया। इसके लिए छात्रों को उप्र बोर्ड की वेबसाइट से रिजल्ट चेक करना होगा। मुरादाबाद जिले में दसवीं व 12वीं के कुल 86,444 परीक्षार्थियों का परिणाम घोषित हुआ है। उप्र बोर्ड का भी बिना परीक्षाओं के पिछली कक्षाओं के आधार पर परिणाम घोषित किया जाएगा। वेबसाइट upmsp.edu.in और upresults.nic.in पर परिणाम देखा।

यह छात्र थे पंजीकृत

वर्ग               10वीं                12वीं

बालक          24642                23434

बालिका          20330              18038

कुल               44972                 41472

परिणाम में त्रुटियां देख मायूस हुए छात्र-छात्राएं : कई छात्राओं ने अर्द्धवार्षिक परीक्षाएं, प्री बोर्ड की परीक्षा दी। लेकिन अंक तालिका में प्रमोट लिखा आया है। किसी विषय में अंक तक नहीं दर्शाए हैं। जबकि अंकतालिका में विषयवार अंक तालिकाएं जिनकी आईं, वह खुश है। जिनको प्रमोट किया गया वह मायूस हैं। आर्य कन्या इंटर कालेज की छात्रा वंशिका पांडे ने स्कूल स्तर की सभी परीक्षाएं दीं और अंक भी अच्छे थे। फिर भी उनकी अंकतालिका में प्रमोट लिखा आया है। यही नहीं कई स्कूलों का परिणाम जारी भी नहीं हुआ है। उन्होंने बोर्ड को अंकों की सही सूचना नहीं दी थी। ऐसे करीब दो दर्जन से अधिक स्कूल होने की सम्भावना जताई जा रही है। डीआइओएस कार्यालय भी इस तरह के मामलों को लेकर फोन आए।

इस बार जिला स्तर पर दसवीं व 12वीं के परिणाम का फीसद उप्र बोर्ड से जारी नहीं हुआ है। व्यक्तिगत रूप से छात्रों ने परिणाम देखा है। यह कहना मुश्किल है कि जिले का परिणाम कितने फीसद रहा। जिन स्कूलों का परिणाम किसी कारणवश नहीं आया है या त्रुटियां आईं है, इसको लेकर बोर्ड में बात की जाएगी।

अरुण कुमार दूबे, डीआइओएस

 

Edited By: Narendra Kumar