मुरादाबाद, जेएनएन। सम्भल में दो सिपाहियों की हत्या कर फरार हुए तीन बंदियों के मामले से उत्तर प्रदेश पुलिस ने सबक लिया है। अब प्रदेश के सभी बंदी वाहनों की ऑनलाइन निगरानी होगी। पुलिस के आला अधिकारियों को पल-पल सूचना मिलती रहेगी कि बंदी वाहन कहां है और उसमें क्या गतिविधियां चल रही हैं।

सम्भल में चन्दौसी रोड पर थाना बनियाठेर में दो महीने पहले तीन शातिर बदमाश दो सिपाहियों की हत्या करके फरार हो गए थे। इस घटना के बाद बंदी वाहनों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठने लगे थे। बदमाश बंदी वाहन का चैनल तोड़कर भागे थे। डीजीपी ओमप्रकाश सिंह ने इस घटना के बाद बंदियों की सुरक्षा के लिये सभी जिलों से सुझाव मांगे थे। इसके बाद प्रदेश के सभी बंदी वाहनों में सीसीटीवी लगाने का फैसला लिया गया। एक बंदी वाहन में चार सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने हैं। दो कैमरे बंदियों के बैठने वाले स्थान पर पीछे लगने हैं। तीसरा वाहन के आगे और चौथा कैमरा वाहन के पीछे की निगरानी को लगाया जाएगा। इस सभी सीसीटीवी कैमरों को इंटरनेट के जरिये कन्ट्रोल रूम से जोड़ा जाएगा। अफसरों के मोबाइल से भी इनको जोड़कर रखा जाएगा। सभी वाहनों में जीपीएस सिस्टम भी लगना है। एसएसपी अमित पाठक ने बताया की सीओ हाईवे दीपक को इस काम की जिम्मेदारी दी गई। वह सीसीटीवी लगाने वाली कंपनियों से कोटेशन मांग रहे हैं। जल्द ही सभी वाहनों में सीसीटीवी लग जाएंगे और ऑनलाइन मॉनीटरिंग शुरू करा दी जाएगी। पूरे प्रदेश में यह व्यवस्था की जा रही है।

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप