मुरादाबाद : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर दैनिक जागरण की ओर से आयोजित महायोग शिविर में मोक्षायतन योग संस्थान के प्रशिक्षक नवनीश कांत शर्मा ने महायोग शिविर में सबसे पहले ओम का उच्चारण कराया। इसके बाद जीवन में हंसना बहुत जरूरी बताकर हास्य योग का प्रशिक्षण दिया। साधकों के तेज आवाज में हंसने से उल्लास का माहौल पैदा हो गया। उन्होंने बीमारी से दूर रहने के लिए महत्वपूर्ण आसन कराए। हर आसन का महत्व बताते हुए कहा कि योग की कला से दिनचर्या को अनुशासन में लाया जा सकता है। योग के साथ मन को साधने की जरूरत है, जिससे व्यक्ति का मानसिक, सामाजिक व आध्यात्मिक विकास हो सके। खचाखच भरे पीटीसी मैदान में पुलिस प्रशिक्षुओं ने सुबह चार बजे से ही मैदान में अपना स्थान ग्रहण करना शुरू कर दिया। पीटीसी व पीटीएस के अफसरों ने भी पुलिस प्रशिक्षुओं के साथ योग किया।

प्रशिक्षक नवनीश शर्मा ने फेफड़ों व रक्त की अशुद्धि को बाहर निकालने की विरेचन क्रिया कराई गई। इसमें कम से कम 50 बार तेजी से सांस खींचने और छोड़ने से शरीर के अंदर की अशुद्धि बाहर निकल जाती है। शिविर में गठिया की बीमारी से दूर रहने के लिए गर्दन का अभ्यास कराया गया। दाएं और बाएं गर्दन को घुमाने और सांस को छोड़ते हुए सिर ऊपर उठाकर खुली आंखों से आसमान की ओर देखने की क्रिया कराई। ताड़ासन का महत्व बताते हुए कहा कि ताड़ासन से शरीर को संतुलित बनाए रखा जा सकता है। इस आसन से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। अपने पैरों को छूना भी स्वस्थ रहने का द्योतक है। कमर लचीली बनी रहे इसके लिए पैरों को छूने का अभ्यास जरूरी है। महायोग शिविर में प्रशिक्षक ने ज्यादा देर कुर्सी पर बैठने की आदत नहीं होने की समस्या से रूबरू कराया और बिना कुर्सी के कुछ देर तक कुर्सी पर बैठने की मुद्रा का अभ्यास कराया। शुगर की बीमारी से दूर रहने के लिए मंडूक आसन और कमर को सीधी रखने के लिए ब्रजासान कराया। भुजंग आसन के बाद अनुलोम विलोम करने की क्रिया सिखाई। अनुलोम विलोम से भी रक्त व सांस की अशुद्धि बाहर आने की जानकारी दी। मोक्षायतन योग संस्थान की ऋचा शर्मा, जागो भारत योग साधक के समन्वयक अमित गर्ग, दीपक जोशी, रोहित गुप्ता का सहयोग रहा। संपादकीय प्रभारी संजय मिश्र ने कहा कि हम संसाधनों के ऊपर आश्रित हो गए हैं, जिससे शारीरिक श्रम घटने से शिथिलता बढ़ रही है। यही बीमारियों का कारण है। उन्होंने कहा कि योग नया नहीं है। प्रधानमंत्री ने योग को स्वीकारने की इच्छा शक्ति दिखाई तो संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी इसे अपनाया। यह सिर्फ प्रधानमंत्री की बात नहीं है, जो योग में विश्वास करता है वही स्वस्थ रह सकता है। महाप्रबंधक अनिल अग्रवाल ने सभी का आभार जताया। इस मौके पर पुलिस अकादमी के आइजी एलवी एंटोनी देव कुमार, एडिशनल एसपी देवेंद्र भूषण, सत्यपाल सिंह, डिप्टी एसपी इंद्रपाल सिंह, इंस्पेक्टर सिंह, प्रतिसार निरीक्षक हरीशचंद्र, हरमीत सिंह ने भी योग किया।

-----------

:इनसेट:

फोटो-231

स्वस्थ रहने के लिए योग करना जरूरी: आइजी

दैनिक जागरण की ओर से महायोग शिविर में योग से निश्चित रूप से प्रशिक्षुओं को लाभ मिलेगा। शरीर को स्वस्थ बनाकर रखना है तो योग करना जरूरी है। 2000 साल पहले मनुष्य बहुत मेहनत करता था। अब हम लोग मोटर साइकिल, कार चलाते हैं, जिससे शारीरिक मेहनत कम होती जा रही है। इससे शुगर, रक्तचाप की बीमारी बढ़ रही है। स्वस्थ रहना है तो योग को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। पुलिस प्रशिक्षण में योग एक विषय है। नियमित रूप से योग कराते हैं। इसकी परीक्षा भी होती है।

-एलवी एंटोनी देव कुमार, आइजी, पुलिस अकादमी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप