मुरादाबाद : पुलिस भर्ती परीक्षा में महानगर के अंदर करीब 60 हजार की भीड़ का प्रवेश होना माना गया हैं। इतनी भीड़ एक साथ आने के चलते सभी होटल, रेस्टोरेंट तथा ढाबे तक फुल हो गए थे। रेलवे स्टेशन और रोडवेज बस स्टैंड का ग्राउंड भी खचाखच भरा हुआ था। परीक्षा छूटते ही शहर की सड़के पूरी तरह से जाम हो गई।

मंगलवार को अभ्यर्थी और उनके साथ करीब 60 हजार लोगों की भीड़ का शहर में प्रवेश हुआ था। सोमवार को भी 50 हजार की भीड़ के आने की संभावना जताई गई थी। दोपहर को बारह बजे और शाम को पांच बजे परीक्षा छूटने के बाद सड़कों पर जमा भीड़ से प्रत्येक जगह जाम लग गया। रेलवे स्टेशन और रोडवेज बस स्टैंड से निकलना तक दूभर हो गया था। पीली कोठी चौराहा और चौक फव्वारा पर अतिरिक्त पुलिस बल लगाने के बाद भी कई घंटों तक जाम लगा रहा। दिल्ली रोड, कांठ रोड, सिविल लाइन एरिया, मुरादाबाद क्लब के सामने और पीली कोठी तथा लोको पुल, फव्वारा चौक और प्रभात मार्केट पूरी तरह से जाम की चपेट रहा। परीक्षा छूटने के करीब दो घंटे बाद ही शहर की सड़कों की स्थिति नॉर्मल हुई। रात आठ बजे तक भीड़ कम हो गई थी। एसपी ट्रैफिक सतीश चंद्र ने बताया कि काफी बंदोबस्त किए थे। भीड़ अधिक होने से शहर में कुछ समय के लिए जाम लगा था। बाद में स्थिति काबू में आ गई थी। दोपहर और शाम के समय ही जाम की स्थिति बनी थी।

सेंटरों के पास ठगों का भी रहा जमावड़ा

मुरादाबाद : परीक्षा में उत्तीर्ण कराने के नाम पर अभ्यर्थियों से ठगी करने वाले भी सेंटरों के पास ही घूमते रहे, जो अभ्यर्थियों को उत्तीर्ण कराने का भरोसा दिला रहे थे। पुलिस को इस मामले की जानकारी मिली, जिस पर सेंटरों के पास ऐसे लोगों को भी तलाशा गया है। एसएसपी जे रविन्दर गौड का कहना है कि कोई भी अभ्यर्थी ठगों के झांसे में न आए। क्योंकि भर्ती परीक्षा पूरी तरह से निष्पक्ष हो रही है। एसटीएफ की टीम ने तो 23 साल्वरों को गिरफ्तार भी किया है। हालांकि महानगर में साल्वर तो नजर नहीं आए। लेकिन ठगी करने वाले अभ्यर्थियों के संपर्क में जरूर आ रहे थे, जो अभ्यर्थियों को उत्तीर्ण कराने के लिए 50 से एक लाख तक की वसूली कर रहे थे।

-----------

Posted By: Jagran