मुरादाबाद :

औषधि प्रशासन ने दिल्ली रोड पर मेडिकल स्टोर पर छापामार कर काफी संख्या में फिजिशियन सैंपल बेचते हुए पकड़ा है। गंभीर बीमारियों की दवाईयां अनाधिकृत व्यक्तियों द्वारा बेचने हुए मिलीं। टीम ने दवाओं को सीज कर लिया है और दुकान में तालाबंद कर पाकबड़ा पुलिस को चाबी सौंप दी। दवा दुकान का लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी है।

मंडलायुक्त को टीएमयू के बाहर नेशनल मेडिकल स्टोरी पर फिजिशियन सैंपल और नशे की दवाईयां बेचने की शिकायत मिलने पर मंडलायुक्त ने टीम को जांच के लिए भेजा। सहायक औषधि आयुक्त राम पुकार पांडेय और औषधि निरीक्षक नरेश मोहन दीपक टीम के साथ गुरुवार सुबह दवा दुकान पर छापामारा। पूछताछ करने पर पता चला कि दुकान मालिक बदायूं गया है। दुकान पर फार्मेसिस्ट नहीं था। अनाधिकृत व्यक्ति द्वारा दवाई की बिक्री कर रहा था। उसको दवा के बारे में कोई जानकारी नहीं है। वह ठीक तरह से पर्चा भी पढ़ नहीं पाता है। औषधि निरीक्षक नरेश मोहन दीपक ने बताया कि दवा दुकान में गंभीर और बड़े आपरेशन में प्रयोग होने वाले दवा के साथ नारकोटिक्स व साइकोट्रोपिक दवा की बिक्री किया जा रहा था। नारकोटिक्स व साइकोट्रोपिक दवा में नशा की दवा मिली होती है। जिससे नशेड़ी भी प्रयोग करते हैं। इस प्रकार की 16 दवाईयां है। टीम को आधे बोरा से अधिक फिजिशियन सैंपल की दवा मिली है। दुकानदार फिजिशियन सैंपल की गोली को काट कर बेच रहा था। टीम ने 70 हजार रुपये से अधिक की दवाएं सीज किया है और दुकान में तालाबंद कर चाबी पाकबड़ा पुलिस को सौंप दिया। दुकान मलिक को नोटिस जारी किया है, सोमवार तक सीज दवाओं के बिल प्रस्तुत करने को कहा है और नियम के विरुद्ध दवा बेचने से संबंधित जवाब मांगा है। दुकान की लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई की जा रहा है।

Posted By: Jagran