मुरादाबाद, जेएनएन। UP Vidhan Sabha Election 2022 : मुरादाबाद देहात सीट पर भी सपा विधायक ने पार्टी का साथ छोड़कर कांग्रेस का हाथ थाम लिया। अब वह कांग्रेस के सिंबल पर मुरादाबाद देहात से चुनाव लड़ेंगे। उनके भतीजे भी कांग्रेस से नगर विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशी है। इकराम कुरैशी के मैदान में उतरने के बाद मुकाबला अब चतुष्कोणीय हो गया है। अब सभी पार्टियों के प्रत्याशी लगभग घोषित हो चुके हैं, लेकिन नामांकन होना शेष है।

मुरादाबाद में सपा ने देहात विधानसभा क्षेत्र से विधायक हाजी इकराम-कुरैशी और कुंदरकी से विधायक मुहम्मद रिजवान का टिकट का दिया था। टिकट काटने के बाद मुहम्मद रिजवान ने पार्टी छोड़ने का एलान कर दिया था। मंगलवार को बसपा ने अपने पूर्व में घाेषित प्रत्याशी का नाम काटकर मुहम्मद रिजवान को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया था। वहीं, सपा के दूसरे विधायक जिनकी टिकट काटी गई थी, इकराम कुरैशी ने चार दिन तक खूब सोच समझकर फैसला लिया।

चार दिन तक अपने समर्थमकों और विभिन्न दलों से वार्ता के बाद उन्होंने गुरुवार को कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी। इससे पहले कांग्रेस ने देहात विधानसभा सीट पर पार्षद नदीम को अपना प्रत्याशी घोषित किया था। देहात सीट पर अब भाजपा से केके मिश्रा, सपा से नासिर कुरैशी, कांग्रेस से इकराम कुरैशी, बसपा से अकील चौधरी और एमआइएमआइएम से माहिद फरघानी मैदान में हैं। इसके अलावा कई निर्दलीय प्रत्याशी भी नामांकन करा रहे हैं।

चाचा भतीजे को कांग्रेस से मिला टिकटः हाजी इकराम कुरैशी समाजवादी पार्टी की स्थापना के साथ ही पार्टी से जुड़े रहे हैं। 2017 में सपा के टिकट पर विधायक बने। इस बार टिकट कटने पर उन्होंने कांग्रेस का हाथ थामा और टिकट भी मिल गया। वहीं, कांग्रेस पहले नगर विधानसभा क्षेत्र से रिजवान कुरैशी को अपना प्रत्याशी घोषित कर चुकी है। इकराम कुरैशी और रिजवान कुरैशी चाचा भतीजे हैं और कांग्रेस के टिकट पर देहात और नगर विधानसभा क्षेत्र से मैदान में उतर रहे हैं।

Edited By: Samanvay Pandey