मुरादाबाद, जेएनएन। UP Vidhan Sabha Election 2022 : सपा के कुंदरकी विधानसभा क्षेत्र से विधायक हाजी रिजवान का पार्टी ने इस बार टिकट काट दिया था। इससे विधायक रिजवान नाराज हो गए थे। टिकट कटने के बाद भी उन्होंने यूपी विधानसभा चुनाव 2022 लड़ने का एलान किया था लेकिन किस पार्टी से, इसके बारे में नहीं बताया था। इसके बाद समाजवादी पार्टी ने उन्हें छह साल के लिए निष्कासित कर दिया था। उधर, विधायक ने खुद भी पार्टी को इस्तीफा भेज दिया था। इसके बाद से उनके बसपा में जाने की चर्चा थी।

मंगलवार को उन्होंने बसपा की सदस्यता ग्रहण कर ली और मायावती ने उन्हें कुंदरकी विधानसभा सीट से ही उम्मीदवार भी घोषित कर दिया। इससे पहले बसपा ने इस सीट पर अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया था। अब उसे बदलकर हाजी रिजवान को प्रत्याशी घोषित कर दिया है। यूपी की सियासत पर हुए इस बड़े बदलाव के कारण मुरादाबाद की कुंंदरकी विधानसभा सीट पर अब मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है। भाजपा ने यहां कमल प्रजापति को उतारा है तो सपा ने सम्भल सांसद शफीउर्ररहमान बर्क के के पोते जियाउर्रहमान को उम्मीदवार बनाया है। कांग्रेस ने अभी अपना प्रत्याशी घोषित नहीं किया है।

कांठ पर भी विरोध के सुर : कांठ सीट पर अनीसुर्रहमान सैफी सपा से दावेदारी कर रहे थे। पार्टी ने उनका भी टिकट नहीं दिया, उनके स्थान पर अमरोहा के पूर्व मंत्री रहे कमाल अख्तर को प्रत्याशी घोषित कर दिया था। आज अनीसुर्रहमान ने भी निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन पत्र खरीदा। वे 27 जनवरी को नामांकन कराएंगे।

रामपुर में कांग्रेस प्रत्याशियों ने कराया नामांकन : कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव एवं पूर्व विधायक संजय कपूर ने बिलासपुर और पूर्व विधायक अली युसूफ अली ने चमरौआ विधानसभा सीट से कराया नामांकन। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था के कड़े प्रबंध रहे। कलक्ट्रेट के आसपास भारी संख्या में पुलिस तैनात रही। जौहर रोड पर यातायात पूरी तरह बंद रहा।

Edited By: Samanvay Pandey