रामपुर, जेएनएन। UP Vidhan Sabha Election 2022 : विधानसभा चुनाव के लिए भारत निर्वाचन आयाेग द्वारा जारी निर्देशों की अनदेखी करने पर आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी फैसल लाला खान फंस गए हैं। बिना अनुमति प्रचार के लिए पर्चे बांटने पर उन्हें नोटिस जारी किया गया है। नोटिस तहसील सदर के रिर्टनिंग आफिसर बनाए उप जिलाधिकारी मनीष मीना की ओर से जारी किया है। फैसल लाला 37 विधानसभा रामपुर से आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी हैं। वह शनिवार को गंज कोतवाली क्षेत्र के मुहल्ला शुतुरखाना में अपना प्रचार कर रहे थे।

इसके लिए वह प्रचार सामग्री के रूप में पम्फलेट व पर्चे बांट रहे थे। इन्हें बांटने की उन्होंने अनुमति नहीं ली थी। इन पर्चों को उनके द्वारा मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति से प्रमाणित भी नहीं कराया गया था। रिर्टनिंग आफिसर ने बताया कि विधानसभा चुनाव के चलते जिले में आदर्श आचार संहिता लागू है। ऐसे में किसी भी तरह के प्रचार के लिए आवेदन कर अनुमति लेनी पड़ती है। लेकिन, प्रत्याशी द्वारा ऐसा नहीं किया गया, जो आचार संहिता उल्लंघन, धारा 144 का उल्लंघन और कोविड प्राेटोकाल का उल्लंघन की श्रेणी में आता है। प्रत्याशी को नोटिस का 24 घंटे के अंदर जवाब देने को कहा गया है। जवाब संतोषजनक न होने पर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष ने सपा का दामन थामा : बहुजन समाज पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष अजय सागर और पूर्व जिला संयोजक नवैद कुरैशी ने शनिवार को सपा की सदस्यता ग्रहण की। सांसद आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम खां ने दोनों को सपा की सदस्ता ग्रहण करायी। इस दौरान उन्होंने कहा कि यह समय बहुत अमूल्य और ऐतिहासिक है। सपा की सरकार बनाकर अन्याय और भ्रष्टाचार के दौर का अंत करना है। उन्होंने बसपा छोडकर आने वाले दोनों नेताओं का स्वागत करते हुए आशा जताई कि सभी धर्म, वर्ग एवं जातियों की एकजुटता को साथ लेकर रामपुर में एतिहासिक जीत दर्ज होगी। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में एक नया सूरज निकलेगा जिससे अन्याय का अंधेरा दूर होगा।

Edited By: Samanvay Pandey