रामपुर, जेएनएन। UP Vidhan Sabha Election 2022 : सांसद आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम ने कहा कि रामपुर में दहशत का माहौल बनाया जा रहा है। मतदाताओं को डराया धमकाया जा रहा है। यह सब मुरादाबाद के कमिश्नर करा रहे हैं। उनके यहां रहते निष्पक्ष चुनाव की उम्मीद नहीं है। चुनाव आयोग इस मामले का संज्ञान ले और कमिश्नर को हटाए। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे साथ जो पुलिस वाले चल रहे हैं, मुझे तो उन पर भी भरोसा नहीं है। क्या पता मुझे किसी चीज में रख दें या मुझे गोली मार दें। 

स्वार-टांडा सीट से सपा प्रत्याशी अब्दुल्ला आजम ने शुक्रवार को मीडिया से बात की। कहा कि मुरादाबाद के कमिश्नर रामपुर का चुनाव प्रभावित कर रहे हैं। सपा के लोगों को परेशान करा रहे हैं। कल भी बाबर आफरीदी को पार्टी कार्यालय से निकलने के बाद एसओजी ने पकड़ लिया। कई घंटे बाद छोड़ा गया। 50 हजार लोगों को रेड कार्ड जारी कर दिए गए हैं। सपा के लोगों की सूची बनाई है।

मुरादाबाद से कई थाना प्रभारी और दरोगा यहां भेजे गए हैं, जो सिर्फ सपा के लोगों का उत्पीड़न कर रहे हैं। लोकसभा चुनाव और रामपुर में हुए विधानसभा उपचुनाव में भी धांधली कराई गई थी। कमिश्नर अब फिर उसी तरह रामपुर में चुनाव में धांधली कराना चाहते हैं। कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के साथ मिलकर कमिश्नर ने सूची बनाई है जो थानों को भेजी गई है। अब पुलिस सपा के लोगों को परेशान कर रही है।

इस संबंध में हमने चुनाव आयोग से शिकायत कर दी है। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से भी सपा का प्रतिनिधिमंडल मिलेगा और सारे प्रकरण से अवगत कराएगा, ताकि रामपुर में निष्पक्ष चुनाव हो सके। उन्होंने कमिश्नर का एक्स्टेंशन नियमों को ताक पर रखकर करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मेरे साथ जो पुलिस वाले चल रहे हैं, मुझे तो उन पर भी भरोसा नहीं है। क्या पता मुझे किसी चीज में रख दें या मुझे गोली मार दें।

पुलिस की गाड़ी मेरे सुरक्षा के लिए नहीं, बल्कि मेरी रेकी करने के लिए चलती है। नामांकन और दो जन्मतिथि को लेकर बोले, मेरे नामांकन से ही विरोधी डरे हुए हैं। उन्हें लग रहा है कि मेरा नामांकन खारिज हो जाएगा। अपनी मां का नामांकन कराए जाने पर बोले, कोई भी साजिश हो सकती है। अगर अमित शाह रामपुर आते हैं तो किसानों की परेशानियों को लेकर भी जवाब मिलना चाहिए।

Edited By: Samanvay Pandey