सम्‍भल, जागरण संवाददाता। राजघाट गंगा घाट पर स्नान करने पहुंचे दो दोस्त नहाते समय गहरे पानी में चले गए। इससे दोनों डूबने लगे। घाट किनारे खड़े लोगों ने जब दोनों को डूबते हुए देखा तो शोर मचा दिया। इसके बाद मौके पर मौजूद गोताखोरों ने दोनों की तलाश शुरू कर दी। आधा घंटे की तलाश के बाद दोनों के शव गोताखाेरों ने गंगा से बाहर निकाले। सूचना पर पुलिस व स्वजन मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शवों को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया। 

थाना रजपुरा क्षेत्र के गांव केवलपुर टिपेड़ा निवासी प्रमोद (24) पुत्र रामरईस, धीरेंद्र (22) पुत्र भूरे उर्फ यादराम दोनों दोस्त थे। यह फरीदाबाद में एक हेलमेट फैक्ट्री में नौकरी करते थे। 24 जून को दोनों घर पर आए थे। रविवार को वह गंगा नहाने के लिए राजघाट गंगा घाट पर पहुंच गए। दोनों नहाते समय गहरे पानी में पहुंचे तो अचानक डूबने लगे। वहां पर मौजूद लोगों ने दोनों को डूबते हुए देख शोर मचा दिया। गोताखोरों की भी नजर इन पर पड़ गई। इसके बाद दोनों की तलाश शुरू कर दी गई। आधा घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद दोनों को गंगा से बाहर निकाला गया।

आनन-फानन में पुलिस गुन्नौर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लेकर पहुंची, लेकिन डाक्टर ने देखते ही मृत घोषित कर दिया। सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में ही गांव वाले पहुंच गए, इससे काफी भीड़ लग गई। दो युवकों की मौत से स्‍वजन का रो-रोकर बुरा हाल है। स्वजनों ने बताया कि प्रमोद की शादी पिछले वर्ष ही हुई थी,जबकि धीरेंद्र की शादी नहीं हुई थी। कोतवाल गुन्नौर वीरेंद्र सिंह पूनिया ने बताया कि दोनों दोस्त फरीदाबाद की एक हेलमेट कंपनी में काम करते थे। रविवार को गंगा स्नान करने पहुंचे थे। दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Edited By: Vivek Bajpai