जासं, मुरादाबाद: दहेज की मांग पूरी न होने पर पति ने मारपीट कर घर से निकाल दिया। बाद में फोन कर तीन तलाक दे दिया। पीड़िता तलाक की आडियो रिकार्डिग लेकर भाई के साथ महिला थाने पहुंची लेकिन, वहां से टरका दिया गया।

थाना कटघर क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली युवती की शादी 2013 में छजलैट के शाहपुर गांव निवासी समीर उर्फ शहंशाह के साथ हुई थी। शादी के बाद आरोपित गोवा में काम करने के लिए चला गया। वहां से लौटकर दहेज के लिए पत्नी का उत्पीड़न शुरू कर दिया। शादी के बाद युवती ने दो बेटी और एक बेटे को जन्म दिया। पीड़िता ने बताया कि उसका पति नशे का आदी है। तीन महीने पहले आरोपित ने दहेज के लिए मारपीट कर घर से निकाल दिया। एसएसपी से शिकायत की तो मामला काउंसिलिग को भेज दिया गया। यहां सुलह नहीं हो सकी। इस पर मुकदमा लिखाकर कार्रवाई करने के आदेश दे दिए गए। पीड़िता ने बताया कि 20 अगस्त को उसके भाई के मोबाइल पर पति ने फोन किया। पीड़िता से बातचीत के दौरान गाली-गलौज करने लगा और विरोध करने पर तीन तलाक बोल दिया। वह अपने भाई के साथ मुकदमा लिखाने के तलाक देने की रिकार्डिंग लिए घूम रही है लेकिन, कटघर और महिला थाने में से किसी ने मुकदमा नहीं लिखा। महिला थाना प्रभारी निधि चौधरी ने बताया कि युवती की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। तीन तलाक के आरोप सही मिलने पर उसमें भी कार्रवाई होगी। तीन तलाक के आरोपित को छोड़ा नहीं जाएगा।

Edited By: Jagran