सपा मुखिया अखिलेश रामपुर आएंगे पर नहीं देंगे धरना

सपा मुखिया र्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अब सपाइयों में जोश भरने 13 सितंबर को रामपुर आएंगे। इस दौरान वह सांसद आजम खां और उनके परिजनों से मुलाकात करेंगे। उनका विस्तृत कार्यक्रम प्रशासन को मंगलवार की शाम मिल गया। दो दिन के कार्यक्रम में उनके धरना या प्रदर्शन में शामिल होने का जिक्र नहीं हैं। रामपुर के बाद वह बरेली जाएंगे। जिला प्रशासन को मिले कार्यक्रम के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री 13 की शाम को साढ़े पांच बजे रामपुर पहुंचेंगे और गांधी समाधि के पास रंगोली मंडप में सपा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे।  

एक लाख रुपये में मिलेगा गाड़ी का वीआइपी नंबर

गाड़ी में वीआइपी नंबर या मनपसंद नंबर चाहिए तो इसके लिए एक लाख रुपये खर्च करने पड़ेंगे। वीआइपी नंबर स्थायी नहीं होगा। गाड़ी का पंजीयन समाप्त होने के साथ नंबर खत्म हो जाएगा। दो पहिया वाहन मालिकों को वीआइपी नंबर लेने के लिए कम कीमत का प्रावधान है। केंद्र सरकार ने पहली सितंबर से वाहनों का जुर्माना कई गुणा बढ़ा दिया। हालांकि प्रदेश में अभी पुराने दर से जुर्माना लिया जा रहा है। वहीं राजस्व बढ़ाने के लिए सरकार ने वीआइपी नंबर को निशाना बनाया है।

नई पहल : चौकीदारों की सलाह पर होगी अब पुलिस की कार्रवाई

 गांवों में पुलिस की आंख, नाक और कान समझे जाने वाले चौकीदारों के दिन बदलने लगे हैं। जरूरत के समय पर याद करने वाली पुलिस अब उनकी सलाह पर ही ग्रामीण अंचलों में पुलिस कार्रवाई करेगी। मसलन गांव में अपराध व अवैध कार्य कहां-कहां होते हैं। इसकी जानकारी चौकीदार देंगे और पुलिस कार्रवाई करेगी। बेहतर कार्य करने वाले चौकीदारों को सम्मानित किया जाएगा।

सड़क पर चलने में बरतें सावधानी, सलामत रहेगी जिंदगानी

 सड़क पर यदि आप पैदल, दोपहिया अथवा चार पहिया वाहन से चल रहे हैं, तो अत्यधिक सावधानी बरतें। जरा सी लापरवाही अथवा चूक न सिर्फ आपके बल्कि दूसरे की जान के लिए भी संकट बन सकती है। लगातार भयावह होती खौफनाक तस्वीर पैदल चलने वालों के साथ ही वाहन चालकों को भी सचेत करती है।ट्रैफिक एसपी सतीश चंद्र के मुताबिक दुर्घटनाओं में मारे जाने वाले लोगों में पैदल चलने वालों की बड़ी संख्या होती है। इनमें भी अधिकांश 16 वर्ष से कम आयु के बच्चे शामिल हैं।

प्रसव के बाद प्रसूता को जमीन पर लिटाया, मांगे रुपये तो पति ने जताई नाराजगी

सम्भल जिला अस्पताल की व्यवस्था भगवान भरोसे है। यहां मरीजों की जान से खिलवाड़ आम है। एक प्रसूता को प्रसव के कुछ ही घंटे बाद जाने को कह दिया गया। ऐसे में पति परेशान हो गया। उसने आरोप लगाया कि एक हजार मांगे गए और कह दिया जाओ। जब एंबुलेंस वाले को बुुलाया तो उसने कह दिया पांच सौ रुपये चाहिए।

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप