सम्भल में इंजीनियर-शिक्षक देने वाले परिवार पर बदनुमा दाग बन गया आतंकी शना-उल-हक उर्फ उमर 

 जिस परिवार ने समाज को इंजीनियर दिया जो शान से दिल्ली में जीवन व्यतीत कर रहा है। एक दूसरा बेटा शिक्षा की रोशनी से समाज के भविष्य की बुनियाद गढ़ रहा है। उसी परिवार की तीसरी संतान के रूप में जन्मे शना उल हक उर्फ उमर ने ऐसी राह चुनी जिसने परिवार का सिर झुका दिया। सम्भल के एक मोहल्ले का रहने वाला आतंकी उमर शुरू से ही दीनी तालीम को जिंदगी का हिस्सा मानता था और दुनियावी के साथ वह दीनी तालीम इसी उम्मीद में हासिल करता था कि बड़े होकर मौलाना बनेगा और समाज के सुखदुख का साथी बनेगा।

 1996 में ही पुष्टि हो गई थी कि अफगानिस्तान में मारा गया सम्भल का उमर बन गया आतंकी

अफगान यूएस आर्मी के संयुक्त ऑपरेशन में मारे गए आतंकी शना उल हक उर्फ उमर ने वर्ष 1991 में सम्भल छोड़ा तो किसी को नहीं पता वह कहां गया। 1996 में उसके पाकिस्तानी आतंकी संगठन में शामिल होने की सूचना खुफिया एजेंसियों को मिली। तब पूछताछ में पिता ने साफ कहा वह जिस दिन घर से गया, उसी दिन रिश्ता खत्म हो गया। उससे उनका कोई मतलब नहीं है।

 प्रेमिका से मिलते समय छोटे भाई ने देख लिया तो मार डाला, जानिए क्या है पूरा मामला 

अमरोहा के गजरौला में पुलिस ने मंगलवार को करीब एक माह पुराने मासूम छात्र की हत्या का राजफाश करने का दावा किया है। पुलिस के मुताबिक मासूम की हत्या उसके बड़े भाई ने ही कुएं में धकेलकर की थी। आरोपित का गांव में ही किसी युवती से प्रेम प्रसंग है। प्रेमिका से मिलते समय मासूम भाई ने उसे देख लिया था। भेद खुलने के भय से छोटे भाई को ही ठिकाने लगा दिया। पुलिस ने आरोपित का चालान भी कर दिया। 

 बीस साल पहले जमानत कराने के बाद फरार हुआ अब आया हाथ 

 बीस साल पहले वह जमानत कराने के बाद ऐसा गायब हुआ कि अदालत में हाजिर ही नहीं हुआ। अदालत ने वारंट जारी किया, पुलिस खोजती रही। वह अब जाकर पुलिस के हाथ लगा है। थाना सैदनगली के गांव बहांपुर निवासी रणवीर उर्फ मुन्ने के खिलाफ वर्ष 1994 में गांव निवासी ठकरी ने जानलेवा हमला करने के मामले में मुकदमा कायम कराया था। जमानत कराने के बाद आरोपित रणवीर उर्फ मुन्ने न्यायालय में तारीखों पर हाजिर नहीं हुआ।

 तकनीकी टीम को नहीं मिली दोनों कोच में कोई खराबी

मुरादाबाद कटघर के पास हुई डबल डेकर व धनेटा के पास आर्मी स्पेशल ट्रेन की दुर्घटनाग्रस्त बोगी की तकनीकी टीम ने जांच कर ली, दोनों में कोई खराबी नहीं मिली। वहीं टीमें हादसे की जांच आज से करेंगी। इनको एक सप्ताह में जांच रिपोर्ट देने का आदेश है।शनिवार की रात धनेटा के पास खाली आर्मी स्पेशल ट्रेन की एक बोगी का एक पहिया पटरी से उतर गया था। कुछ अधिकारी दुर्घटना के लिए कोच में खराबी बता रहे थे तो कुछ रेल लाइन में खराबी बता रहे थे। इसी तरह से रविवार सुबह कटघर के पास डबल डेकर ट्रेन की दो बोगी का एक-एक पहिया पटरी से उतर गया था।

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस