मुरादाबाद, जेएनएन। Eid Miladunnabi 2021 : हजरत मुहम्मद साहब के जन्मदिन को लेकर लोगों में उत्साह है। मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में सजावट की गई है। सरकार की आमद मरहबा लिखे झंडे लगाए गए हैं। घरों में भी सजावट की गई। दरवाजों पर मोमबत्तियों से रोशनी की गई। वहीं लाल मस्जिद में हुए जलसे में उलमा ने सरकार की आमद के बारे में बताया। कहा गया कि आपके आने से अशिक्षा का अंधेरा दूर हुआ।

मरकजी जमीयत अहले सुन्नत की ओर से लाल मस्जिद में जलसे की शुरुआत तिलावत कलाम पाक से की गई। मशहूर शायर मंसूर उस्मानी, नात ख्वां शाह आलम अशरफी, इरफान अशरफी, महफूज अशरफी, जहीन अशरफी आदि ने हजरत मुहम्मद साहब की शान में नातिया कलाम का नजराना पेश किया। कलाम सुनकर लोगों ने खूब दाद से नवाजा। इसके बाद मुफ्ती दानिश कादरी ने हजरत मुहम्मद साहब के बारे में बताते हुए कहा कि आपकी दुनिया में आमद से ही हर तरफ नूर फैल गया। बेटियों को बराबरी का दर्जा मिला।

मुफ्ती अशफाक कादरी दिल्ली ने बताया कि आपकी पूरी जिंदगी सभी के लिए नमूना है। सुन्नतों पर अमल करें। पांच वक्त की पाबंदी से नमाज अदा करें। अध्यक्षता करते हुए नगर मुफ्ती अब्दुल मन्नान कलीमी ने दुनिया से कोरोना के खात्मे की दुआ कराई। इसके बाद जश्ने ईद मिलादुन्नबी की सभी को मुबारकबाद पेश की गई। इसमें रईस अहमद, रिजवान उर्रहमान, शुजाअत अशरफी, मुनव्वर अकरमी, हाजी असद, मुहम्मद तारिक, बिट्टू अशरफी, मुजम्मिल अशरफी, सालिम अशरफी, काशिफ अशरफी, शाने आलम आदि रहे।

बच्चों ने किया घरों में चरागाः हजरत मुहम्मद साहब के जन्मदिन को लेकर बच्चों में भी खासा उत्साह है। जश्ने ईद मिलादुन्नबी की पूर्व संध्या पर मगरिब की नमाज के बाद बच्चों ने घरों के दरवाजों पर मोमबत्तियां जलाकर रोशनी की। इसके साथ ही हाथों में झंडियां लेकर सरकार की आमद मरहबा की सदाएं भी लगाईं।

Edited By: Samanvay Pandey