जागरण संवाददाता, मुरादाबाद : साइबर ठगों का जाल जिस तरह से फैल रहा है, वैसे ही पुलिस भी उनसे निपटने के लिए नए-नए तरीकों को अपना रही है। मुरादाबाद साइबर सेल ने बीते एक साल में एक करोड़ रुपये से अधिक की धनराशि साइबर ठगों के निकालने से पहले ही पीड़ित के खाते में वापस कराने की कार्रवाई की। बरेली-मुरादाबाद जोन में साइबर ठगी के मामलों में सबसे ज्यादा वसूली मुरादाबाद साइबर सेल के द्वारा की गई है। इस मामले में प्रभारी अधिकारी एएसपी अनिल कुमार यादव ने साइबर सेल के कर्मियों को सम्मानित करने के लिए मुख्यालय को पत्र भेजा है।

कभी लोन देने तो कभी इनाम का लालच देकर साइबर ठग लोगों के खाते से पैसे निकालने का काम करते हैं। कुछ लोग साइबर ठगों के झांसे में आकर अपने जीवनभर की कमाई को गवां देते हैं। साइबर ठगी के काम में जुटे अपराधियों का पकड़ पाना भी पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है। दूसरे राज्यों के दूर-दराज क्षेत्रों में बैठकर साइबर ठग लोगों के खाते से पैसे निकालने का काम करते हैं, वहीं पैसे लेने के बाद फिर किसी तीसरे राज्य में ठिकाना बना लेते हैं। अपने नाम,नंबर के साथ ही पहचान भी बदल देते हैं। ऐसे में साइबर सेल के अधिकारियों के द्वारा इनकी पहचान कर पाना भी मुश्किल होता है। जिस कारण पुलिस इनको गिरफ्तार नहीं कर पाती है। साइबर क्राइम से जुड़े मामलों में गिरफ्तारी का अनुपात बहुत बेहतर नहीं है। लेकिन, मुरादाबाद साइबर सेल ने ठगों को सबक सिखाने का काम किया है। बीते एक साल में 33 मुकदमों को दर्ज किया गया। वहीं, इन मामलों में कुल एक करोड़ 10 लाख 48 हजार 784 रुपये साइबर ठगों से सुरक्षित करने का काम किया है।

...................

बंगाल और बिहार से पकड़कर लाए गए साइबर ठग

साइबर अपराधियों को पकड़ने के लिए मुरादाबाद साइबर सेल के अधिकारी कई राज्यों की खाक छानकर अपराधियों को पकड़कर लाए हैं। बीते एक साल में दर्ज किए गए 33 मुकदमों में 13 शातिर साइबर अपराधियों को जेल भेजने की कार्रवाई की गई। पकड़े गए साइबर अपराधियों के पास से भी एक लाख 54 हजार रुपये की नकदी बरामद की गई है। वहीं इन अपराधियों के खातों में पड़ी नौ लाख 25 हजार रुपये की रकम को फ्रीज कराने की कार्रवाई मुरादाबाद साइबर सेल के द्वारा की गई है।

..................

वर्जन

साइबर सेल ने बीते एक साल में सबसे बेहतर काम किया है। बीते एक साल में एक करोड़ रुपये से ज्यादा की धनराशि खातों में वापस कराए हैं। बेहतर प्रदर्शन को देखते हुए साइबर थाने के पुलिस कर्मियों को सम्मानित करने के लिए मुख्यालय को पत्र भेजा गया है।

-अनिल कुमार यादव, एएसपी एवं प्रभारी अधिकारी साइबर सेल मुरादाबाद

Edited By: Jagran