मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Irani gang of Bhopal : भोपाल के ईरानी टप्पेबाज गैंग के साजिशकर्ता फरमान अली ने पुलिस की वर्दी पहनकर बंगला गांव चौकी के पास स्थित सर्राफ की दुकान से सोने के कुंडल उड़ाए थे। पुलिस की छानबीन में पता लगा है कि इसके पहले भी यह शातिर टप्पेबाज पुलिस की वर्दी पहनकर कई प्रदेशों में लोगों को लाखों रुपये का चूना लगा चुका है। नागफनी पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से नकली पुलिस वाले की तलाश में जुटी है। जल्द ही मुरादाबाद से एक टीम शातिर टप्पेबाज की तलाश में भोपाल जाएगी।

24 नवंबर को पुलिस की वर्दी पहनकर टप्पेबाज नागफनी थाना क्षेत्र की बंगला गांव चौकी से चंद कदम दूरी पर गौरी शंकर की श्रेया ज्वैलर्स की दुकान से जेवर उड़ा ले गया था। मौका पाकर उसने करीब 25 ग्राम कीमत के एक लाख रुपये के सोने के कुंडल छिपा लिए और जेवर पसंद न आने की बात कहते हुए वहां से खिसक गया था। उसके जाने के बाद गौरीशंकर ने जेवर चेक किए तब उन्हें घटना का पता चला। टप्पेबाज ने खुद को शहर कोतवाली में तैनात बताया था। प्रभारी निरीक्षक जयप्रकाश ने बताया कि सर्राफ के यहां लगे सीसीटीवी फुटेज में कैद हुए नकली पुलिस वाले का चेहरा इरानी गैंग के सदस्य से मिलता जुलता है। वह भोपाल शहर में करोंद थानाक्षेत्र के हाउसिंग बोर्ड शिया मस्जिद के पीछे रहने वाला फरमान अली उर्फ हुड्डा बताया जा रहा है। फरमान अली इस तरह से कई वारदातों को अंजाम दे चुका है। 14 मार्च को पुलिस की वर्दी पहनकर फरमान ने राजस्थान के सुमेरपुर में महिला के जेवर ठग लिए थे। इसके दो दिन बाद ही उसने रोहट कस्बे के सर्राफ के यहां से करीब एक लाख रुपये का मंगलसूत्र चोरी किया था। इससे पहले वह फालना कस्बे में महिला को छह लाख रुपये का लालच देकर कागजों की गड्डी देकर उसके गहने लूटकर फरार हो गया था। रायबरेली जिले में भी उसने इसी तरह की घटना को अंजाम दिया है। उन्होंने बताया कि फरमान अली को मध्य प्रदेश की तालबेहट पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उसने अपना नाम समीर अली पुत्र कालू खां उर्फ नासिर अली निवासी अमन कालोनी भोपाल बताया था। पीड़ित गौरीशंकर से मिली जानकारी और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर माना जा रहा है कि आरोपित फरमान अली उर्फ हुड्डा उर्फ समीर अली ही है।

सावधान रहें, यूपी में घूम रहा ईरानी गैंग : पुलिस के मुताबिक ईरानी गैंग पुलिस की वर्दी पहनकर निकलते हैं। इससे दुकानों पर उन्हें सम्मान मिलता है। इसी का लाभ उठाकर वह घटना को अंजाम दे देते हैं। घटना को अंजाम देने से पहले आसपास के जिलों में आकर रुकते हैं। वहां से बाइक से आकर घटना को अंजाम देकर वहीं वापस चले जाते हैं। सर्राफ के यहां वारदात के बाद सीसीटीवी फुटेज में कैद हुआ यह शातिर चेहरा आपके आसपास भी हो सकता है। इसलिए सावधान रहें और अगर आपको यह कहीं दिखाई दे तो तत्काल पुलिस को सूचना दें।

 

Edited By: Narendra Kumar