मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों का एक दिवसीय आनलाइन उन्मुखीकरण प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन पंचायत भवन स्थित उप निदेशक पंचायत मंडल कार्यालय में किया गया। इस दौरान मास्टर ट्रेनरों ने प्रधानों को अधिकारों के साथ उनके दायित्वों की भी जानकारी दी।

मुरादाबाद मंडल के जनपद बिजनौर से तीन विकास खंड शामिल किए गए। सभी प्रशिक्षण केंद्रों पर ग्राम प्रधानों ने इस प्रशिक्षण में भाग लिया। कार्यक्रम का शुभारंभ पंचायतीराज मंत्री भूपेंद्र चौधरी के उद्बोधन के साथ हुआ। मंत्री ने सभी नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों को उनकी जीत पर बधाई दी। पंचायती राज विभाग की योजनाओं के विषय में प्रकाश डाला। प्रशिक्षण के उद्देश्यों का महत्व बताया। सभी ग्राम प्रधानों ने मंत्री का धन्यवाद किया। इस प्रशिक्षण में डा. नवनीत शेखर सिंह सीनियर फैकल्टी कम मैनेजर जिला पंचायत रिसोर्स सेंटर सम्भल के द्वारा ग्राम पंचायत के सतत विकास लक्ष्य पर चर्चा की। सीनियर फैकल्टी कम मैनेजर जिला पंचायत रिसोर्स सेंटर अमरोहा सतेंद्र कुमार शर्मा ने ग्राम पंचायत विकास योजना पर विशेष जानकारियां दीं। मंडलीय सलाहकार हिमांशु त्यागी ने स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण से संबंधित जानकारी दी। मास्टर ट्रेनर लव कुमार ने ग्राम पंचायत में बनीं छह समितियों के विषय में बताया। मुकेश कुमार मंमगाई, मास्टर ट्रेनर ने पंचायती राज व्यवस्था के विषय में विस्तार से जानकारी दी। मास्टर ट्रेनर ईशांत कुमार शर्मा ने ग्राम प्रधानों के अधिकार दायित्व एवं उनकी भूमिकाओं के विषय में बताया। प्रशिक्षण के दौरान ग्राम प्रधानों के सभी प्रश्नों के उत्तर भी दिए और उनके सुझाव भी आमंत्रित किए गए।

रालाेद के रुहेलखंड प्रदेश अध्यक्ष ने की मोहम्मद अहसान से मुलाकात : रामपुर के पूर्व विधायक एवं राष्ट्रीय लोकदल के रुहेलखंड प्रदेश अध्यक्ष अशफाक खां ने  मोहम्मद अहसान के आवास पर पहुंचकर उनसे मुलाकात की। मोहम्मद अहसान पहले रालोद के जिलाध्यक्ष रह चुके हैं। बाद में उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी, लेकिन 13 साल बाद उन्होंने पार्टी में दोबारा वापसी की है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी के निर्देश पर प्रदेश अध्यक्ष ने उनसे आवास पर पहुंचकर जिले की सियासत को लेकर चर्चा की। साथ ही संगठन को बूथ स्तर तक खड़ा करने के लिए रणनीति बनाने को लेकर निर्देश दिए। किसान आंदोलन को मजबूत करने को लेकर भी बात की। इससे पहले पूर्व विधायक का रालोद कार्यकर्ताओं द्वारा स्वागत किया गया। गौरतलब है कि पूर्व जिला पंचायत सदस्य मोहम्मद अहसान ने छह माह पहले दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से उनके आवास पर मुलाकात की थी। पार्टी अध्यक्ष ने उनकी दोबारा वापसी कराई थी। पूर्व जिला पंचायत सदस्य ने कहा कि वह बीमारी के चलते पार्टी में सक्रिय नहीं हो सके थे, लेकिन अब पूरे जोश के साथ पार्टी को मजबूत करने के लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी राजनीति की शुरुआत स्वर्गीय चौधरी अजीत सिंह की अंगुली पकड़कर की थी। अब उनके बेटे एवं पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ कंधे से कंधा मिलाकर किसानों की लड़ाई लड़ेंगे। दोबारा उत्तर प्रदेश को हरित प्रदेश बनाने और हाईकोर्ट की पश्चिम उत्तर प्रदेश में बैंच लाने के लिए भी आंदोलन किया जाएगा।

Edited By: Narendra Kumar