अमरोहा, जेएनएन।  ढाबा पर काम करने वाले युवक की हत्या कर शव को हाईवे किनारे फेंक दिया। वह चार दिन से लापता था। डिडौली पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक के स्वजन में कोहराम मचा है। स्वजन शरीर पर बने निशान को छर्रे बता रहे हैं तो पुलिस चोट मान रही है। मृतक के पिता की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

मंगलवार सुबह लगभग 10 बजे डिडौली कोतवाली क्षेत्र में हाईवे पर लोगों ने युवक का शव पड़ा देखा। गांव चौधरपुर में सड़क किनारे शव मिलने की सूचना पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। मृतक की शिनाख्त करने की काफी कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली। सूचना पाकर सीओ विजय कुमार राणा व एसओ सुनील मलिक भी मौके पर आ गए थे। चूंकि मामला मुरादाबाद जनपद की सीमा से सटा था, लिहाजा सीओ देशवाल दीपक व पाकबड़ा प्रभारी निरीक्षक मोहित चौधरी भी आ गए। दोनों जिलों की पुलिस मृतक की शिनाख्त करने के प्रयास में जुट गई। इसी दौरान गांव अहरौला माफ़ी निवासी विपिन कुमार भी वहां पहुंचे तथा मृतक की शिनाख्त अपने भांजे रिंकू निवासी गांव उकसी रायपुर थाना अमरोहा देहात के रूप में की। रिंकू की हत्या कर शव को यहां फेंका गया था। उसके सीने व हाथ पर चोट के निशान हैं। सूचना पाकर स्वजन भी आ गए थे।

उन्होंने बताया कि मृतक जिवाई चौकी के पास स्थित एक ढाबा पर भोजन परोसने व सफाई आदि का काम करता था। ढाबा पर ड्यूटी कर वह अहरौला माफी स्थित ननिहाल चला जाता था। एक महीना पहले ही वह ढाबा पर लगा था। पिछले चार दिन से वह ढाबा पर नहीं आ रहा था। सोमवार सुबह लगभग 10 बजे ढाबा पर आकर पांच मिनट बाद बगैर कुछ बताए फिर से चला गया था। स्वजन का कहना है कि शरीर पर बने निशान छर्रे के हैं। उसे गोली मारी गई है। जबकि पुलिस चोट के निशान बता रही है। मृतक के पिता पप्पू सिंह की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। सीओ ने बताया कि पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। मृतक का मोबाइल भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। उसकी काल डिटेल का पता कराया जा रहा है।

Edited By: Vivek Bajpai