अमरोहा, [अनिल अवस्थी]। क्रिकेट विश्व कप प्रतियोगिता में अफगानिस्तान के खिलाफ शमी की हैट्रिक पर सारा देश जहां जश्न मना रहा है, वहीं शमी की पत्नी हसीन जहां को उनकी कामयाबी रास नहीं आई उनके वाट्सएप ग्रुप पर किसी प्रशंसक द्वारा शमी के फोटो डालने पर हसीन भड़क गईं। उन्होंने अपशब्द लिखते हुए कमेंट किया कि मेरे ग्रुप पर इस ---- के फोटो मत डालें। उनके व्यवहार को लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं शुरू हो गई हैं।

शनिवार को शमी ने बनाई थी हैट्रिक
शनिवार को इंग्लैंड में जब अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम बल्लेबाजी कर रही थी तो अंतिम ओवर में अमरोहा के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने लगातार तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेज हैट्रिक बनाई थी। मैच भारत की झोली में आ गया। इस पर पूरे देश के साथ ही अमरोहा में जमकर जश्न मनाया गया। जोश से लबरेज शमी के समर्थकों ने सोशल मीडिया पर भी शमी के फोटो शेयर कर अपनी खुशी का इजहार किया। 

बोली-..... फोटो मेरे ग्रुप पर मत भेजो 
एक समर्थक ने मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां के वाट्सएप ग्रुप पर भी शमी के फोटो डाल दिए। यह फोटो देखकर हसीन जहां के तेवर तल्ख हो गए। उन्होंने फोटो भेजने वाले शख्स के नाम का उल्लेख करते हुए लिख दिया- इस --- की फोटो मेरे ग्रुप में नहीं डालो। हसीन के एक समर्थक ने फोटो भेजने वाले शख्स को ब्लॉक करने की भी सलाह दी। हसीनजहां के वाट्सएप ग्रुप पर इस तरह के कमेंट को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं। हालांकि अधिकांश लोगों का यही कहना है कि व्यक्तिगत लड़ाई अपनी जगह होती है, मगर शमी की गेंदबाजी से जब देश को जीत मिली हो तो उनके खिलाफ इस तरह के कमेंट नहीं किए जाने चाहिए। उल्लेखनीय है कि लगभग डेढ़ वर्ष से क्रिकेटर मोहम्मद शमी व उनकी पत्नी हसीन जहां के बीच विवाद चल रहा है। हसीन ने शमी व उनके परिजनों के खिलाफ कोलकाता में दहेज व यौन उत्पीड़न का मुकदमा भी दर्ज कराया है। 

हसीन ने दी सफाई
मोहम्मद शमी के लिए --- शब्द प्रयोग किए जाने पर हसीनजहां ने कहा कि जब शमी कुछ भी नहीं थे तो उनके लिए न सिर्फ दुआएं कीं, बल्कि हर मुश्किल में उनका साथ दिया। मगर जब वह बुलंदी पर पहुंच गए तो आधी रात को हमें उनके घर से मासूम बेटी के साथ निकाल दिया गया। बोलीं- शमी की कामयाबी से हमें जलन नहीं होती। मगर जिस तरह --- का कोई चरित्र नहीं होता उसी तरह शमी का भी चरित्र नहीं है। इसके सुबूत भी हमारे पास हैं। इसीलिए मैंने उन्हें --- लिखा है।  

जैसी सोच, वैसे उद्गार
शमी के भाई मोहम्मद हसीब ने कहा कि क्रिकेट मैच के जरिये शमी का देश के लिए क्या योगदान रहा। यह पूरी दुनिया देख रही है। जब सफलता देश के सम्मान से जुड़ी हो तो व्यक्तिगत मामलों को लेकर अभद्र भाषा का प्रयोग उचित नहीं। जिसकी जैसी सोच होती है, उसके वैसे ही उद्गार होते हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Narendra Kumar