मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad Bank Manager Missing Son Police Search : मेरा पीछा मत करना। जब तक रुपये हैं, मैं जिंदा रहूंगा। छोटे भाई द्वारा लिखी इन चंद लाइनों ने महानगर के एक बैंक प्रबंधक की दोनों बेटियों को झकझोर कर रख दिया। बहरहाल घर से ढाई लाख रुपये लेकर फरार बैंक प्रबंधक के छोटे पुत्र की अंतिम लोकेशन हिमाचल प्रदेश में म‍िली है। मझोला पुलिस युवक को वापस मुरादाबाद लाने की फिराक में है।

मझोला थाना क्षेत्र में खुशहालपुर में रहने वाले रामचंद्र सहकारी बैंक लिमिटेड की बिलारी शाखा में प्रबंधक के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने मझोला पुलिस को तहरीर देकर बताया कि 19 वर्षीय पुत्र आयुष घर से लापता है। रामचंद्र की दोनों बेटियां निशा और चित्रा घर पर थीं। उनका छोटा भाई आयुष भी बहनों के ही साथ था। जबकि बड़े बेटे निशान सिंह, रामचंद्र सिंह व उनकी पत्नी 11 अप्रैल को वह हाथरस चले गए। वहां भांजी का घर देखने गए थे। 12 अप्रैल को सुबह सात बजे दोनों बेटियों की नींद टूटी। तब आयुष घर में नहीं मिला। अलमारी से करीब ढाई लाख रुपये की नकदी भी गायब थे। आयुष का लिखा एक पत्र मिला। आयुष ने लिखा है कि मुझे ढूंढने की कोशिश मत करना। ढूंढने का प्रयास किया तो उसे पता चल जाएगा। मझोला थाना प्रभारी मुकेश शुक्ला ने बताया कि आयुष की तलाश जारी है। युवक का अंतिम लोकेशन हिमाचल प्रदेश में मिला है। फिलहाल मोबाइल स्विच ऑफ है। युवक को मुरादाबाद लाने की कोशिश हो रही है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप