मुरादाबाद : रामपुर स्थित मौलाना मोहम्मद अली जौहर प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान को पूर्व मंत्री आजम खां के मौलाना मोहम्मद अली जौहर ट्रस्ट को लीज पर दिए जाने के मामले में एसआइटी ने जांच शुरू कर दी है। इस संबंध में एसआइटी जांच अधिकारी व पुलिस उपाधीक्षक हौसला प्रसाद ने शिकायतकर्ता पूर्व मंत्री हाजी निसार हुसैन के पुत्र मुस्तफा हुसैन को बयान दर्ज करवाने के लिए एसआइटी मुख्यालय लखनऊ बुलाया है। दिया था प्रार्थना पत्र

इस संबंध में मुस्तफा हुसैन ने प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण एवं ¨सचाई राज्यमंत्री सरदार बलदेव ¨सह औलख को प्रार्थना पत्र दिया था, जिसमें आरोप लगाया था कि रामपुर में मौलाना मोहम्मद अली जौहर प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान को सपा शासनकाल में नियमों के खिलाफ आजम खां के जौहर ट्रस्ट को लीज पर दे दिया गया, तब आजम खां मंत्री थे। शोध संस्थान की स्थापना वर्ष 2005-06 में की गई थी, जिससे अल्पसंख्यक समुदाय के लिए आर्थिक सामाजिक शैक्षिक विकास की योजनाओं के सफल क्रियान्वयन हेतु शोध कार्य किया जा सके। एक अगस्त 2006 से सरकार द्वारा 15 पद भी सृजित किए गए, परंतु शासन को गुमराह कर शासनादेश व नियमों का उल्लंघन करते हुए उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक विभाग द्वारा अपने ही विभाग के तत्कालीन मंत्री आजम खां को निजी लाभ पहुंचाने की ²ष्टि से उनके निजी ट्रस्ट को लीज डीड पर 100 रुपये प्रति सालाना किराए पर दे दिया गया। लीज डीड के पैरा नंबर 9 के अनुसार शोध संस्थान की भूमि व भवन के मूल स्वरुप में किसी प्रकार का परिवर्तन न करने का जिक्र किया गया था, परंतु नियम विरुद्ध तरीके से पूर्व मंत्री आजम खां द्वारा उक्त प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान पर निजी रामपुर पब्लिक स्कूल खोलकर संचालित कर लिया गया है। शासन ने दिए जांच के आदेश

राज्य मंत्री बलदेव ¨सह ओलख की संस्तुति पर शासन ने एसआइटी द्वारा जांच करवाने का आदेश दिया। विशेष अनुसंधान दल एसआईटी उत्तर प्रदेश लखनऊ के जांच अधिकारी पुलिस उपाधीक्षक हौसला प्रसाद ने मुस्तफा हुसैन को पत्र लिखकर उपरोक्त मामले में बयान दर्ज करवाने के लिए मुख्यालय बुलाया है। साथ ही अन्य शिकायतकर्ताओं को भी बयान दर्ज करवाने के लिए कहा गया है। मेरे दो-दो वारंट, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी : आजम

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आजम खां ने कहा कि मेरे ऊपर राष्ट्रद्रोह के दो मुकदमे चल रहे हैं और दोनों में वारंट हैं, मुझे गिरफ्तारी का इंतजार है, क्योंकि दोनों ही वारंट यहीं के थाने में रखे हैं और कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है। पूर्व मंत्री आजम खां ने यह बात शनिवार को मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी में लॉ फैकल्टी के उदघाटन समारोह में कही। उन्होंने कहा कि मेरे खिलाफ राष्ट्रद्रोह के मुकदमे चल रहे हैं, मैं राष्ट्रद्रोही हूं, देश का गद्दार हूं। मैं तो कहता हूं ऐसे गद्दारे वतन और पैदा हों, क्योंकि मैं बच्चों को शिक्षा देना चाहता हूं। हमें राक्षस तक कहा जाता है। उन्होंने कहा कि इस मुल्क में अगर लोकतंत्र नहीं होता तो कमजोरों का जीना मुश्किल हो जाता है, क्योंकि जो हुकूमत में होता है वह यही चाहता है कि हमेशा सत्ता में रहे। पिछले दिनों भीड़ द्वारा लोगों को सड़कों पर मारा जा रहा था, तब प्रधानमंत्री कह रहे थे, इन्हें मत मारो, लेकिन किसी ने नहीं सुनी, क्योंकि इस तरह फसाद करना छुपे हुए एजेंडे का हिस्सा है। जब तक देश में छुपा हुआ एजेंडा जारी रहेगा, तब तक देश तरक्की नहीं कर पाएगा। चुनाव आते-आते पेट्रोल के रेट सौ रुपये लीटर तक पहुंच जाएंगे। क्योंकि जो लोग पेट्रोल के दाम बढ़ा रहे हैं, उन्हें चुनाव नहीं लड़ना है। इस मौके पर मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर मुख्तार आलम ने बच्चों को कामयाबी के टिप्स दिए। उनकी किताब सफलता के नुस्खे का विमोचन किया गया। इस अवसर पर राज्य सभा सदस्य डॉ.तजीन फातिमा, जौहर यूनिवर्सिटी के सीईओ अब्दुल्ला आजम, वीसी प्रोफेसर मोहम्मद यूनुस, विधान परिषद सदस्य घनश्याम ¨सह लोधी, पूर्व पालिकाध्यक्ष अजहर खां, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष लाखन ¨सह, पूर्व जिलाध्यक्ष ओमेंद्र चौहान, मसूद गुडडू, फसाहत अली खां शानू, आसिम राजा आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran