मुरादाबाद :

रोडवेज के बसों में यात्रियों की संख्या घट रही है, उसके बाद भी रोडवेज की आय में लगातार वृद्धि हो रही है। सर्वे से पता चला है कि कम दूरी के यात्री बसों के बजाय मोटर साइकिल व कार से चलना शुरू कर दिया है।

मुरादाबाद मंडल में पिछले साल प्रत्येक माह 45 लाख यात्री बसों में सफर करते थे, जिससे साढ़े तीन करोड़ से अधिक आय होती थी। पिछले कुछ माह से बसों में लगातार यात्रियों की संख्या घट गई है। अप्रैल माह यात्रियों की संख्या घटकर 42 लाख से कम हो गई है, लेकिन आय बढ़कर पांच करोड़ हो गई। आय में बढोतरी रोडवेज प्रशासन की समझ से परे है। कारण जाने के लिए विभाग ने टीम लगाकर सर्वे कराया। सर्वे से पता चला कि लोकल में चलने वाले अधिकतर यात्री बसों के बजाय बाइक व कार से चल रहे है, जिससे यात्री की संख्या कम हुई है। जबकि लम्बी दूरी के लिए यात्री निजी वाहन या टैक्सी से चलने के बजाय बसों से चलना शुरू कर दिया। दिल्ली, लखनऊ देहरादून आदि स्थानों के लिए बसों से सफर कर रहे हैं। लम्बी दूरी सफर करने पर अधिक किराया देना पड़ता है, इसलिए रोडवेज की आय बढ़ गई है। सर्वे रिपोर्ट के बाद रोडवेज प्रबंधन लोकल मार्गो पर यात्रियों की संख्या बढ़ाने के लिए प्रयास कर रहा। साथ ही कम संख्या वाले मार्गो से बस हटाकर लंबी दूरी वाले मार्गो पर लगाने की तैयारी कर रहा है। क्षेत्रीय प्रबंधक अतुल कुमार जैन ने बताया कि लोकल में निजी वाहनों से आना जाना अधिक करते हैं,इस लिए यात्रियों की संख्या कम हुई है। लम्बी दूरी में सफर करने वालों की संख्या बढ़ रही है। जिससे आय में वृद्धि हुई है।

Posted By: Jagran