मुरादाबाद,(प्रदीप चौरसिया) : कुंभ मेला के यात्रियों के लिए रेलवे स्टेशन विश्राम स्थल बनेंगे। इसके लिए हरिद्वार समेत अन्य स्टेशनों पर एक लाख कुर्सी लगाई जाएंगीं। बाधा रहित ट्रेन संचालन के लिए रेल फाटकों को बंद किया जाएगा। इसके लिए मंडल रेल प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है।

हरिद्वार में जनवरी 2021 से तीन माह के लिए कुंभ मेला लगने जा रहा है। इसमें अधिकांश यात्री ट्रेनों से हरिद्वार पहुंचेंगे। ट्रेन से कुंभ मेले में दस लाख से अधिक यात्री आने का अनुमान लगाया जा रहा है। उत्तर रेलवे मुख्यालय ने यात्री सुविधा विस्तार के लिए मुरादाबाद रेल मंडल को दायित्व सौंपा है। मुख्यालय ने फिलहाल 50 करोड़ का बजट आवंटित किया है।

 एक लाख से अधिक कुर्सी लगाई जाएंगी

रेल प्रशासन ने कुंभ मेला में आने वाले यात्रियों को रोकने और प्लटेफार्मों पर भीड़ कम करने की योजना बनाई है। इसके लिए हरिद्वार, ज्वालापुर, मोतीचूर व ऋषिकेश स्टेशन पर विशेष व्यवस्था करने जा रहा है। इन स्टेशनों पर यात्रियों के बैठने के लिए एक लाख से अधिक कुर्सी लगाई जाएंगी। सरकुलेटिंग क्षेत्र में विशेष व्यवस्था होगी, जहां यात्री आराम कर पाएंगे।

72 जोड़ी ट्रेनें चलाने की योजना

मेला में आने वाले यात्रियों को ट्रेन पकडऩे में कोई परेशानी नहीं हो। इस लिए हरिद्वार से चलने वाली ट्रेनों को मेला प्लेटफार्म से चलाने की योजना है। लक्सर से हरिद्वार तक बाधा रहित ट्रेन चलाने के लिए सभी रेल फाटक को स्थायी रूप से बंद कर दिया जाएगा। इसके स्थान पर ओवर ब्रिज या अंडरपास बनाया जाएगा। इस पर रेलवे ने काम शुरू कर दिया है। देश के विभिन्न कोने से हरिद्वार के लिए रेलवे 72 जोड़ी ट्रेनें चलाने की योजना बनाई है। मेला वाले स्टेशनों पर 40 अतिरिक्त बुकिंग काउंटर खोले जाएंगे। ट्रेनों से संबंधित जानकारी देने कंट्रोल टावर बनाया जाएगा। प्रवर मंडल वाणिज्य प्रबंधक रेखा ने बताया कि रेल प्रशासन ने हरिद्वार कुंभ मेले की तैयारी शुरू कर दी है। ट्रेन से आने व जाने वाले वाले यात्रियों की सुविधा पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस