मुरादाबाद, जेएनएन। मंडल के रामपुर में कानूनी कार्रवाई के संबंध में थाने बुलाए गए क्षेत्रीय आयुर्वेदिक यूनानी अधिकारी डा. सुशील कुमार गुप्ता की तबीयत अचानक बिगड़ गई। वह थाने में ही बेहोश हो गए। इससे पुलिस कर्मी घबरा गए। उन्हें तुरंत रिक्शा मंगवाकर साथ आए कर्मचारी के साथ थाने से भेज दिया गया।

मामला शहर के मुहल्ला राजद्वारा स्थित में  क्लीनिक चलाने वाले यूनानी चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई से जुड़ा है। इनके क्लीनिक पर प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने छापा मारा था। क्लीनिक सील कर दिया था। चिकित्सक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए क्षेत्रीय आयुर्वेदिक यूनानी अधिकारी को कहा गया। पुलिस से बातचीत के दौरान अचानक उनकी तबीयत बिगड़ने लगी और वह बेहाेश होकर कुर्सी से नीचे गिर गए। पुलिस कर्मी घबरा गए। अधिकारी के साथ आए कर्मचारी ने उन्हें पुलिस कर्मियों की मदद से उठाया। ई-रिक्शा मेें बैठाकर कार्यालय ले आए। यहां चिकित्सक को बुलाकर उनकी जांच कराई गई। क्षेत्रीय आयुर्वेदिक यूनानी अधिकारी ने बताया कि वह अब ठीक हैं। अधिक उम्र और ब्लड प्रेशर की दिक्कत के चलते उनकी तबीयत खराब हो गई थी। यूनानी चिकित्सक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के बारे में कहा कि उनके पास रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए कोई लिखित आदेश नहीं मिले हैं। वह सभी प्रमाण जुटाने के बाद ही मुकदमा कराएंगे। इसके लिए प्रयास कर रहे हैं।

Edited By: Narendra Kumar