मुरादाबाद, जेएनएन। दहेज उत्पीडऩ का मुकदमा वापस करने से मना किया तो पति ने तीन बार तलाक बोलकर पत्नी से नाता तोड़ लिया। पीडि़ता ने फिर से आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को तहरीर दी है।  

थाना मुगलपुरा क्षेत्र के सूफी की ज्यारत मुगलपुरा प्रथम निवासी सुहाना का निकाह 12 अक्टूबर, 14 को वारसीनगर निवासी मुनीर से हुआ। पीडि़ता का आरोप है कि शादी के बाद से पति और ससुराली दहेज के लिए प्रताडि़त करने लगे। 26 जून, 18 को आरोपित पति और ससुराल वालों ने पचास हजार रुपये और एक बाइक लाने को कहा। मांग पूरी न होने पर मारपीट कर घर से निकाल दिया। 

इस मामले में उसने 13 अगस्त, 18 को आइजी के आदेश पर मुगलपुरा थाने में दहेज प्रताडऩा और मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया। पीडि़ता मायके में ही रह रही है। आरोप है कि पति और ससुराल वाले मुदकमा वापस लेने के लिए दबाव बना रहे हैं। सुहाना के मुताबिक 14 अक्टूबर को पति मुनीर घर पहुंचा और उससे मुकदमा वापस लेने को कहा। आरोप है कि मुकदमा वापस लेने से मना करने पर पति ने तीन तलाक दे दिया। जान से मारने की धमकी देकर भाग गया। पीडि़ता ने पुलिस में शिकायत की लेकिन, मुकदमा दर्ज नहीं हुआ। एसएसपी दफ्तर से मामले की जांच कर कार्रïवाई करने के निर्देश जारी किए गए हैैं।  

दहेज के लिए दिया तीन तलाक, पति समेत चार पर मुकदमा

रामपुर : दहेज के लिए पति ने तीन तलाक दे दिया। बाद में दूसरी शादी कर ली। पीडि़ता अजीमनगर थाना क्षेत्र के खिजरपुर गांव की है। उसका निकाह छह साल पहले मिलक खानम थाना क्षेत्र के बमना गांव निवासी सलमान के साथ हुआ था। आरोप है कि शादी के कुछ समय बाद से ससुरालीजन ने दहेज की मांग को लेकर मारपीट करने लगे। दो साल पहले उसे मारपीटकर घर से निकाल दिया था। इस पर महिला ने अजीमनगर थाने में दहेज उत्पीडऩ का मुकदमा दर्ज करा दिया। गिरफ्तारी से बचने के लिए ससुरालियों ने समझौता कर लिया और उसे घर ले आए। छह माह बाद फिर से दहेज की मांग करने लगे। उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। 16 अक्टूबर 2019 को पति और ससुराली पंचायत के बहाने मायके आए और पति ने उसे तीन तलाक दे दिया। अजीमनगर थाना प्रभारी अमरीश कुमार ने बताया कि महिला की शिकायत पर उसके पति समेत ससुर ताहिर, देवर फिरोज और सुल्तान के खिलाफ संबंधित धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस