मुरादाबाद । व‍िश्‍व ह‍िन्‍दू पर‍िषद के केंद्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर मुद्दे पर बहस चल रही है। सभी का ध्यान फैसले पर है। उम्मीद है कि चार-पांच दिन में बहस पूरी हो जाएगी और राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला 17 नवंबर तक आ जाएगा। सुप्रीम कोर्ट का फैसला ह‍िन्‍दुओं के पक्ष में आने की उम्मीद है। हमने ऐसा प्रमाण दिया है, जिससे फैसला अनुकूल आएगा। फैसला पक्ष में आया तो अगले साल से भव्य राम मंदिर का निर्माण भी शुरू हो जाएगा। मुरादाबाद में प्रथम आगमन पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि यहां पर चंगाई सभा के नाम पर लोगों को प्रलोभन देकर या धोखे से इसाई बनाया जा रहा है, जिससे समाज में तनाव बढ़ रहा है। ग्रामसमाज की जमीन पर मस्जिदें बनाये जाने की शिकायत मिली है। इसे सरकार तक पहुंचाया जाएगा, ताकि समाज में नफरत फैलाने वालों पर शिकंजा कसा जा सके। विश्व ह‍िन्‍दू परिषद का मकसद समाज से जाति-पाति, छोटे-बड़े की भावना को दूर करके समरस समाज की स्थापना करना है। इसके लिए साधु-संतो और धर्माचार्यों को इस कार्य में लगाना है। मुरादाबाद क्षेत्र में ह‍िन्‍दू  शक्ति को जागृत करके तेजस्वी समाज का निर्माण करना है। राम मंदिर पर फैसला पक्ष में नहीं आने पर विश्व ह‍िन्‍दू परिषद का निर्णय क्या होगा, इस सवाल पर कहा कि ऐसा नहीं है। हमें पूरा भरोसा है कि फैसला राम मंदिर के पक्ष में ही आएगा।

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप