मुरादाबाद, जेएनएन। बोनस की मांग को लेकर रेलवे कर्मचारी आरपार की लड़ाई लड़ने को तैयार हैं। केंद्रीय नेतृत्व की घोषणा होते ही 22 अक्टूबर से रेलवे कर्मचारी हड़ताल पर चले जाएंगे।

नार्दर्न रेलवे मेंस यूनियन (नरमू) की रविवार को कंपूर कंपनी कार्यालय पर बैठक हुई। जिसमें वक्ताओं कहा कि रेल कर्मियों ने लड़ाई लड़कर बोनस लिया है। कोरोना संक्रमण के नाम पर सरकार कर्मियों को बोनस नहीं देने जा रही है। जबकि कोरोना काल में रेल कर्मियों ने रात दिन काम किया है, जिससे रेल की आय बढ़ी है। ट्रेड यूनियन ने सरकार व रेल मंत्रालय को लगातार पत्र भेज रहा है और रेल कर्मियों को उत्पादकता के आधार पर बोनस का देने की मांग कर रहे हैं। सरकार इस ओर ध्यान नहीं दे रही है। देश भर के रेल कर्मचारी 20 अक्टूबर को बोनस दिवस मनाएंगे और सभी स्थानों पर प्रदर्शन किया जाएगा। डीआरएम आफिस गेट मीङ्क्षटग का आयोजन किया जाएगा। सरकार 21 अक्टूबर तक बोनस की घोषणा नहीं किया जाता है तो रेल कर्मचारी बिना नोटिस के हड़ताल पर जाने को तैयार रहे। केंद्रीय नेतृत्व से आदेश मिलते ही हड़ताल शुरू हो जाएगा।

बैठक में मंडल अध्यक्ष रोहित कुमार बाली, मंडल मंत्री राजेश कुमार चौबे, मनोज शर्मा, सुनील शर्मा, कुंवर खालिद, पीएस नेगी, नफीस, प्रमुख रूप से उपस्थित थे।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस