मुरादाबाद। मुरादाबाद में अवैध खनन का खेल थमने का नाम नहीं ले रहा। पूरी प्रशासनिक मशीनरी की आंख में धूल झोंक कर खनन माफिया धरती का सीना छलनी करने में जुटे हैं। ऐसे ही एक खेल की भनक सोमवार देर रात पुलिस को लगी। एएसपी दीपक भूकर के नेतृत्व में पुलिस टीम ने पाकबड़ा थाना क्षेत्र के भांडली गांव में छापेमारी की। पुलिस की आहट पाते ही खनन माफिया फरार हो गए। घटना स्थल से एक पोकलेन समेत पांच डंफर बरामद करने में पुलिस को सफलता मिली है।

जिलाधिकारी राकेश कुमार ङ्क्षसह को सोमवार रात सूचना मिली कि पाकबड़ा थाना क्षेत्र के भांडली गांव में अवैध खनन हो रहा है। जिलाधिकारी ने घटना से एसएसपी प्रभाकर चौधरी को अवगत कराया। एसएसपी ने एएसपी दीपक भूकर के नेतृत्व में छापेमारी टीम गठित की। कुछ ही देर में एएसपी के नेतृत्व में पुलिस ने भांडली गांव में छापेमारी। पुलिस की मौजूदगी का अहसास होते ही खनन माफिया भाग खड़े हुए। छापेमारी के दौरान एक पोकलेन व चार डंफर पुलिस के हाथ लगे। मिट्टी भरे डंफर व पोकलेन मशीन पुलिस ने कब्जे में ले ली। अवैध खनन के आरोप में पोकलेन व डंफर सीज कर दिए गए। इस बावत थाना प्रभारी रजनी द्विवेदी ने बताया कि पोकलेन व डंफर पुलिस के कब्जे में हैं। पकड़े गए तीन डंफर को ही खनन की अनुमति थी। पोकलेन अवैध रूप से मौके पर मिला। संबंधित रिपोर्ट जिलाधिकारी कार्यालय को भेजी गई है।

खेल में शामिल सफेदपोश

खनन के खेल में सफेदपोश शामिल हैं। दबी जुबान इसकी पुष्टि करते हुए पुलिस ने बताया कि अवैध खनन का गोरख धंधा वर्षों से फल फूल रहा है। पुलिस जब आपत्ति करती है, तो उसकी आंख में धूल झोंकने के लिए अनुमति पत्र दिखाया जाता है। जिस गाटा पर खनन की अनुमति होती है, उसके इतर दूसरे भूभाग पर अवैध तरीके से खनन किया जाता है। मौके से पोकलेन की बरामदगी इसका प्रमाण है।

75 हजार से पांच लाख रुपये तक लग सकता है जुर्माना

बगैर अनुमति खनन में डंफर व पोकलेन का उपयोग खनन माफियाओं पर भारी पड़ेगा। एडीएम प्रशासन लक्ष्मीशंकर ङ्क्षसह ने बताया कि डंफर पर 75 हजार व पोकलेन पर पांच लाख रुपये तक का जुर्माना लगाए जाने का प्राविधान है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस